Samachar Nama
×

सफर को आसान बनाने के लिए बच्चों को सिखाएं ट्रेवलिंग मैनर्स, पेरेंट्स को नहीं होगी परेशानी

y
ट्रेवल न्यूज़ डेस्क !!!बच्चों के साथ ट्रैवल करना पैरेंट्स के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है। जहां माता-पिता को सफर के दौरान बच्चों की हर छोटी-बड़ी जरूरत का खास ख्याल रखना पड़ता है। साथ ही माता-पिता के लिए यह भी आवश्यक हो जाता है कि वे बच्चों को यात्रा के दौरान उचित व्यवहार करना सिखाएं। ऐसे में अगर आप भी बच्चों के साथ घूमने जा रहे हैं तो बच्चों को ट्रेवल एटिकेट के बारे में सिखाकर अपना सफर आसान बना सकते हैं।

सफर के दौरान बच्चों की मासूम हरकतें कई लोगों का ध्यान खींचती हैं। लेकिन वहां सफर के दौरान बच्चे कुछ ऐसी चीजें कर सकते हैं जो आपको शर्मिंदा कर सकती हैं। जिससे माता-पिता को लोगों के सामने शर्मिंदगी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आप बच्चों को ट्रैवल से जुड़े तरीके सिखाकर इस शर्मिंदगी से बच सकते हैं। तो आइए जानते हैं बच्चों के लिए कुछ ट्रैवल टिप्स।

कूड़ेदान का प्रयोग करें
बच्चे अक्सर घर का बना खाना खाकर छिलके और रैपर इधर-उधर फेंक देते हैं। वहीं बच्चे भी सफर के दौरान इस आदत का पालन करते हैं। ऐसे में बच्चों को कम उम्र से ही डस्टबिन का इस्तेमाल करना सिखाएं। खासकर सफर के दौरान बच्चों को कूड़ेदान में कचरा फेंकने की सलाह दें।

सेफ्टी टिप्स दें
घूमने के दौरान बच्चे अपने माता-पिता को छोड़कर खेलने में व्यस्त हो जाते हैं। ऐसे में बच्चों को अपने माता-पिता के साथ रहने का आदेश दें। साथ ही बच्चों को हिदायत दें कि सफर के दौरान अजनबियों से बात न करें और न ही उनसे कोई खाना लें। इससे बच्चे सफर के दौरान खुद को सुरक्षित रख सकेंगे।

बच्चों से बात करें
यात्रा करते समय, माता-पिता अक्सर आत्म-अवशोषित हो जाते हैं और बच्चों की उपेक्षा करते हैं। लेकिन आपके इस व्यवहार से बच्चों को ठेस पहुँच सकती है या वे और अधिक दुर्व्यवहार कर सकते हैं। इसलिए भ्रमण के दौरान बच्चों के सवालों का जवाब दें और उन्हें भ्रमण पर देखने वाली विभिन्न चीजों से अवगत कराना न भूलें।

जिद करना बंद करो
घर में अक्सर बच्चे किसी बात को लेकर जिद पर अड़ जाते हैं और माता-पिता हंसते हुए बच्चों की जिद से बचते हैं। लेकिन सफर के दौरान बच्चों की जिद्दी आदतें आपको शर्मसार कर देंगी। इसलिए सफर के दौरान बच्चों को जिद्दी होने से मना करें और सफर शुरू करने से पहले बच्चों को बड़ों की बात सुनने की सलाह दें।

Share this story