Samachar Nama
×

एयर इंडिया के खिलाफ सबसे ज्‍यादा शिकायत, अब कंपनी बदलेगी अपनी एचआर पॉलिसी, यात्रियों को मिलेगी और सहूलियत

;

ट्रेवल न्यूज़ डेस्क,एयर इंडिया एक यात्री द्वारा दूसरे यात्री के ऊपर पेशाब करने को लेकर चर्चा में है। इस मामले में एयरलाइन को डीजीसीए से नोटिस भी मिला है। हालांकि एयर इंडिया की फ्लाइट्स में यात्रियों को होने वाली परेशानी कोई नई बात नहीं है। ईटी ने डीजीसीए के आंकड़ों के हवाले से बताया कि एयर इंडिया के पास प्रति 10 हजार यात्रियों पर सबसे ज्यादा शिकायतें हैं। 10,000 में 1.7 यात्रियों ने एयरलाइन के खिलाफ किसी न किसी समस्या की शिकायत की है। चीजों को बेहतर बनाने के लिए टाटा समूह द्वारा सरकार से खरीदी गई इस एयरलाइन में कंपनी चाहकर भी एचआर पॉलिसी में अभी कोई बदलाव नहीं कर सकती है।

इसके लिए एयर इंडिया को मार्च तक इंतजार करना होगा। दरअसल, अधिग्रहण समझौते के मुताबिक कंपनी नई कर्मचारी नीति को मार्च 2023 तक लागू नहीं कर सकती है। नई नीति के लागू होने से यह संभव है कि कर्मचारियों की जवाबदेही और प्रदर्शन में सुधार हो। माना जा रहा है कि मार्च के बाद एयर इंडिया नई नीतियां लागू कर सकती है जिससे ग्राहकों को बेहतर सेवाएं मिलेंगी। बता दें कि डीजीसीए ने एयर इंडिया को फिर से 2 नोटिस जारी किए हैं। इसमें से एक नोटिस एक यात्री द्वारा दूसरे यात्री के कंबल पर पेशाब करने के लिए और दूसरा नोटिस यात्री द्वारा शौचालय में सिगरेट पीने के लिए भेजा गया है. 

टाटा की कोई प्रारंभिक समाप्ति नीति नहीं है
ईटी को दिए बयान में कंपनी के एक अधिकारी ने कहा कि टाटा भर्ती करने और फिर निकाल देने की संस्कृति का पालन नहीं करती है। उन्होंने कहा, "एयर इंडिया ने इसलिए ग्राहक-केंद्रित व्यवहार को बढ़ावा देने के लिए कर्मचारियों को किसी के लिए अधिक जवाबदेह बनाने के लिए पुरस्कार बनाए हैं। हमारा ध्यान किसी भी तरह के भेदभाव को दूर करने के लिए टाटा आचार संहिता को लागू करने पर है…। एयर इंडिया ने आवश्यक कार्य क्षेत्रों में कर्मचारियों के प्रदर्शन को मापने के लिए कर्मचारियों के लिए एक नया सेवा समझौता भी तैयार किया है।

Share this story