Samachar Nama
×

भारत की इन जगहों पर घूमने के लिए भारतीयों को लेनी पड़ती है इजाजत, ये रही उनकी लिस्ट

'

ट्रेवल न्यूज़ डेस्क, अब तक आप जान गए होंगे कि दूसरे देश में जाने के लिए वीजा की जरूरत होती है। इसके बिना आप प्रवेश नहीं कर पाएंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारत में कुछ ऐसे इलाके भी हैं, जिन्हें देखने के लिए आपको भारत सरकार से इजाजत लेनी पड़ती है, तभी आप उन जगहों पर जा सकते हैं।ILP नियम बनाने के पीछे सरकार का मकसद इन जगहों पर भीड़भाड़ को रोकना है ताकि आदिवासी सभ्यता की रक्षा की जा सके. तो ये सब जानने के बाद आपके मन में भारत के उन इलाकों के बारे में जानने की जिज्ञासा जरूर पैदा हुई होगी, तो आइए जानते हैं।

अरुणाचल प्रदेश
पहले नंबर पर भारत का नॉर्थ ईस्ट राज्य अरुणाचल प्रदेश आता है। इसकी सीमा म्यांमार, भूटान और चीन को छूती है। इस लिहाज से यह इलाका काफी संवेदनशील है। यहां के स्थानीय लोगों के अलावा इनर लाइन परमिट की जरूरत होती है। यदि आप यहां जाने की योजना बना रहे हैं, तो सबसे पहले आपको संरक्षित क्षेत्रों का दौरा करने के लिए नई दिल्ली, कोलकाता, गुवाहाटी और शिलांग में अरुणाचल प्रदेश सरकार के रेजिडेंट कमिश्नर से आईएलपी प्राप्त करना होगा।

नगालैंड
दूसरा नागालैंड है, इसकी सीमा म्यांमार से जुड़ी हुई है। इस पर 16 आदिवासी (नागालैंड में आदिवासी) समुदाय रहते हैं। उनकी बोली, खान-पान सब कुछ अलग है। यहां जाने के लिए आपको इनर लाइन परमिट की जरूरत होती है। इन जगहों के लिए परमिट कोहिमा, दीमापुर, नई दिल्ली, मोकोकचुंग, शिलांग और कोलकाता के उपायुक्त कार्यालयों से बनवाए जा सकते हैं। इसके अलावा ILP को ऑनलाइन भी प्राप्त किया जा सकता है।

मिजोरम
मिजोरम तीसरे नंबर पर है। यह इलाका बांग्लादेश की सीमा से जुड़ा हुआ है। यहां आदिवासी संस्कृति है। ऐसे में इस जगह पर जाने की अनुमति कोलकाता, गुवाहाटी, शिलांग और नई दिल्ली में मिजोरम के सरकारी कार्यालयों से प्राप्त की जा सकती है। मिजोरम में संवेदनशील इलाकों में जाने के लिए दो तरह के ILP बनाए जाते हैं, एक 15 दिनों के लिए और दूसरा 6 महीने के लिए। अगर आप हवाई मार्ग से मिजोरम जा रहे हैं तो आप आइजोल के लेंगपुई हवाई अड्डे पर सुरक्षा अधिकारियों से एक विशेष पास भी बनवा सकते हैं।

सिक्किम
जबकि, आपको सिक्किम के संवेदनशील क्षेत्रों के लिए इनर लाइन परमिट की आवश्यकता होती है, जिसमें नाथुला दर्रा, त्सोमगो-बाबा टेंपल ट्रिप, दज़ोंगरी ट्रेक, सिंगालीला ट्रेक, युमेसमडोंग, गुरुडोंगमार लेक ट्रिप, युमथांग और जीरो पॉइंट ट्रिप और थंगु-चोपता घाटी शामिल हैं। इसका परमिट पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा जारी किया जाता है, आप इसे बागडोगरा एयरपोर्ट और रंगपोचेकपोस्ट से बनवा सकते हैं।

लक्षद्वीप
इन जगहों पर भी जाने के लिए ILP की आवश्यकता होती है। अगर आप यहां ऑफलाइन परमिट बनवा रहे हैं तो आपको अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन से क्लीयरेंस सर्टिफिकेट चाहिए। इसके अलावा दस्तावेजों की जांच की जाती है उसके बाद आपको परमिट मिल जाता है। आप चाहें तो ऑनलाइन परमिट भी हासिल कर सकते हैं।

Share this story