×

Rishikesh पार्क क्षेत्र में शराब ठेका खोलने की कोशिश

Rishikesh पार्क क्षेत्र में शराब ठेका खोलने की कोशिश

उत्तराखंड न्यूज़ डेस्क !!! राजाजी टाइगर रिजर्व के गौहारी रेंज में जहां मानवीय गतिविधियां प्रतिबंधित हैं, वहां अंग्रेजी शराब का ठेका आवंटित किया गया है। कुछ दिन पहले ग्रामीणों के विरोध के कारण ठेका नहीं खुल सका। अब एक ट्रक में शराब भरकर बिक्री के लिए पहुंचाया गया। इसकी सूचना मिलते ही ग्रामीणों ने मौके पर विरोध प्रदर्शन किया। उद्यान निदेशक के अनुसार इस संबंध में हमारी ओर से जिला आबकारी अधिकारी को अनुमति जारी नहीं की गई है। इसको लेकर ग्रामीणों ने जनआंदोलन की तैयारी शुरू कर दी है।

यमकेश्वर प्रखंड के राजाजी टाइगर रिजर्व के गौहारी रेंज में आबकारी विभाग द्वारा चीला-कुनाऊ के लिए अंग्रेजी शराब का ठेका आवंटित किया गया है। कुछ दिन पहले इस क्षेत्र में ठेकेदार की ओर से ठेका खोलने का प्रयास किया गया था। ग्रामीणों की भारी भीड़ ने मौके पर विरोध किया, जिसके कारण ठेका नहीं खुल सका। अब ठेकेदार ने ट्रक में शराब बेचने के लिए मोबाइल सेवा मुहैया कराई है।

बुधवार को बीन नदी के पास प्रस्तावित पुल स्थल पर ग्रामीणों ने खड़ा देखा। गंगा भोगपुर मल्ला के उपाध्यक्ष अनिल सिंह नेगी, युवा मंगल दल के अध्यक्ष संदीप कुमार राणाकोटी, प्रशांत शर्मा, विपिन भंडारी, शीशपाल रावत मौके पर पहुंचे तो ट्रक में बैठे कर्मचारियों ने बताया कि इसमें दवा रखी है। ट्रक की तलाशी ली गई तो उसमें शराब भरी हुई थी। स्टाफ ने बताया कि यह शराब ठेकेदार की है, जिसे ट्रक के जरिए यहां बेचने के लिए लाया गया है। ग्रामीण युवक ने लक्ष्मणझूला पुलिस को सूचना दी। पार्क निदेशक डीके सिंह के साथ मुख्य वन संरक्षक जेएस सुहाग ने भी फोन कर पार्क क्षेत्र में शराब की बिक्री का विरोध किया। युवक मंगल दल अध्यक्ष ने बताया कि यह ट्रक पिछले तीन दिनों से गंगा भोगपुर मल्ला स्थित एक रिसॉर्ट की पार्किंग में खड़ा था। ठेका खोले जाने पर ग्रामीणों ने आंदोलन की चेतावनी दी है।

जिला आबकारी अधिकारी पौड़ी गढ़वाल ने 22 सितंबर को पार्क निदेशक को पत्र लिखकर चीला-कुनाऊ में अंग्रेजी शराब का ठेका खोलने के लिए बैराज डंपिंग जोन के पास जगह उपलब्ध कराने की अनुमति मांगी है। जिस पर पार्क निदेशक डीके सिंह ने मंगलवार को पत्र जारी कर अनुमति देने से इनकार कर दिया। उन्होंने पत्र में कहा कि राजाजी राष्ट्रीय उद्यान की आरक्षित वन भूमि पर कोई गैर वानिकी कार्य नहीं किया जा सकता है। जिस स्थान पर अनुमति मांगी गई है वह उत्तराखंड जल विद्युत निगम के अधिकार क्षेत्र में आता है, जो पार्क क्षेत्र के अंतर्गत आता है। यहां अनुमति के लिए पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, भारत सरकार से अनुमति लेना आवश्यक है। पार्क निदेशक ने जिला आबकारी अधिकारी को पत्र भी लिखा कि पाक रिजर्व क्षेत्र में शराब की दुकानों के आवंटन की अनुमति रद्द की जाए। ताकि वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के उल्लंघन की स्थिति उत्पन्न न हो।

राजाजी टाइगर रिजर्व के निदेशक डीके सिंह ने मंगलवार को लाइसेंसधारी सुमंत बंसल निवासी 35 सदानंद मार्ग ऋषिकेश को लिखे पत्र में कहा कि चीला-कुनाउन में विदेशी शराब की दुकान का चयन प्रस्तावित है।  यह स्पष्ट नहीं है कि इसके लिए किस तरह की जमीन का चयन किया गया है। वह स्थल, जिसे लाइसेंसधारी द्वारा रेंज वन अधिकारी को दिखाया गया है, पार्क के कोर जोन में स्थित है। वर्तमान में यह यूजेवीएनएल के नियंत्रण में है लेकिन इसका असली मालिक वन विभाग है। उन्होंने ऐसा कोई भी कार्य नहीं करने की चेतावनी दी, जिससे वन संरक्षण अधिनियम के उल्लंघन की स्थिति पैदा हो।

ऋषिकेश न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story