×

JHUNJHUNU जेईएन भर्ती परीक्षा में रुपए लेकर चयन का दावा, बंद कमरे से मिले परीक्षार्थियों के दस्तावेज, आरोपी फरार

शहर में एक निजी मोबाइल कंपनी के मैनेजर ने गत माह 10 अगस्त की रात को अपने किराए के कमरे में फंदा लगा जान देने के मामले में नया मोड़ आ गया है। मृतक के भाई ने उसके साथ काम करने वाली महिला एवं पुरूष पर हत्या का संदेह जताते हुए कुड़ी थाने में इसकी रिपोर्ट दी है। मृतक का भाई पुलिस के आलाधिकारियों से इस बाबत मिला। अब पुलिस की तरफ से अनुसंधान आरंभ किया गया है।  अब इस घटना में मृतक के भाई ने कुड़ी पुलिस ने बताया कि मूलत: उत्तरप्रदेश के गोरखपुर स्थित एफसीआई कैंपस के पास हाल वैशाली नगर कुड़ी निवासी 32 वर्षीय अभय कुमार राव पुत्र अजय कुमार राव एक निजी मोबाइल कंपनी में मैनेजर के पद कार्यरत था। दस अगस्त की रात साढ़े बारह बजे उसने अपने भाई निर्भय कुमार से जयपुर में वाटसअप चैट पर बातचीत की थी। इसके बाद रात दो बजे उसने अपने कमरें में फंदा लगा लिया। पुलिस को रात में ही सूचना मिल गई थी। तब उसे तुरंत एम्स अस्पताल लाया गया। डॉक्टर ने उसे यहां पर मृत बता दिया। मृतक अविवाहित था।  महिला साथ करती थी काम  मृतक के भाई ने उसके साथ काम करने वाली एक महिला एवं साथी रॉबिन बंसल के खिलाफ हत्या की आशंका जताई है। महिला के पति की मौत हो चुकी है और एक बच्ची भी है। महिला का मृतक के पास में आना जाना भी था। मृतक और महिला दोनों एक ही पद पर कार्यरत थे। बाद में महिला ने निजी मोबाइल कंपनी को छोडकऱ दूसरी मोबाइल कंपनी ज्वाइन कर ली थी,लेकिन दोनों की मुलाकातें जारी रही। सबसे पहले महिला ने ही मृतक के भाई को फोन कर अभय के सुसाइड करने की जानकारी दी। पुलिस को भी महिला ने ही फोन कर रात को बुलाया था।  शरीर भारी होने से गिरा और लगी चोट  पुलिस ने आरंभिक पड़ताल में तब पाया कि मृतक अभय का शरीर भारी था। इससे फंदा लगाने के बाद वह नीचे गिर गया था और उसे चोट भी लगी थी। इसी चोट के अंदेशे से अब मृतक के भाई ने हत्या का अंदेशा जताया है। घर के कमरें दो चाबी बताई जाती है। मृतक से मिलने सबसे पहले यह महिला ही वहां पहुंची थी। रॉबिन बंसल नाम का शख्स भी इनके साथ ही काम करता है। मृतक के भाई निर्भय कुमार ने महिला व रॉबिन बंसल पर हत्या की आशंका जताई है। जांच थानाधिकारी अमित सिहाग की तरफ से की जा रही है।


राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!! आरोपी पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं, लेकिन बताया ये लोग अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर इस परीक्षा में चयन के नाम पर फर्जीवाड़ा कर रहे थे। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि,  पुलिस के अनुसार मुखबिर से सूचना मिली की खेतड़ीनगर के पास बनवास गांव में कुछ लोग कनिष्ठ अभियंता परीक्षा में चयन के नाम पर नकल करवाने और मोटी रकम वसूलने का काम करते हैं। जिस पर खेतड़ी नगर थानाधिकारी हरिकृष्ण तंवर व सिंघाना थानाधिकारी भजनाराम ने गांव में प्रभात कॉलोनी बालाजी मंदिर के पीछे बस स्टैंड के पास पुल्कित पुत्र जगदीश प्रसाद यादव के मकान में दबिश दी।मकान में एक कमरे पर ताला मिला। बताया गया कि इसमें मंडेरू टोडाभीम जिला करौली निवासी उत्तमलाल पुत्र बाबूलाल मीणा किराए पर रह रहा है।

पुलिस ने कमरे का ताला तोड़ा। खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,राजस्थान कर्मचारी चयन आयोग की ओर से कनिष्ठ अभियंता सीधी भर्ती परीक्षा 2020 में चयन के नाम पर मोटी रकम वसूले जाने के एक मामले का पुलिस ने खुलासा किया है। लिफाफों में अलग-अलग परीक्षार्थियों के दस्तावेज रुपयों की खाली चेक सहित अन्य दस्तावेज मिले। सभी लिफाफों पर अलग-अलग नंबर लिखे थे।पुलिस ने यहां से लैपटाॅप, एडमिट कार्ड, बैंकाें के खाली चेक व अन्य दस्तावेज जब्त किए। इन दस्तावेजों में कनिष्ठ अभियंता भर्ती के प्रवेश पत्र और उसे जुड़े अन्य दस्तावेज थे। अब पुलिस इनकी जांच कर रही है।

Share this story