×

Ganganagar बच्चे बोले-सौतेला पिता मारता है, घर से निकल आए दाे मासूम बच्चाें को चाइल्ड लाइन ने दिलाया आश्रय

Angry cow attacked firefighter, see what happened next in the video

राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!!  चाइल्डलाइन टीम सदस्य नाजिश व मुन्नी कुमारी मौके पर पंहुचे और बच्चों को अपने संरक्षण में लेकर कार्यालय ले आए। बच्चों के साथ मैत्रीपूर्ण वातावरण तैयार कर काउंसलिंग की, तो बच्चों ने अपना नाम व अन्य जानकारी दी।बच्चों ने बताया कि हमारे माता-पिता दोनों ने अलग-अलग शादी कर ली है, हम मां के साथ रहते हैं, कभी-कभी मौसी के पास रहते हैं। हमारी मां ज्वैलरी शॉप पर काम करती है, वह सुबह 8 बजे दुकान जाती है और रात को 9 बजे घर आती है, सौतेले पिता व मां दुर्गा मंदिर के पास कॉलोनी में रहते हैं। हम दोनों भाई भी उसी मकान में रहते हैं। 

 कई बार मां से शिकायत की तो उन्होंने भी ध्यान नहीं दिया, खाने के लिए सिर्फ दो रोटी देते हैं। जब और रोटी मांगते है तो वह कहते हैं कि तेरा बाप यहां छोड़कर गया था क्या। बच्चाें काे बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया। समिति ने बच्चों की उचित देखभाल व संरक्षण के लिए चाइल्डलाइन के माध्यम से बच्चों को आश्रय के लिए भेज दिया है। चाइल्ड लाइन को गुरुवार सुबह 11 बजे सूचना मिली कि दो बच्चे जिनकी उम्र 10 से 14 वर्ष के बीच है बसंती चौक के पास लावारिस मिले हैं, पूछने पर कुछ भी बता नहीं रहे हैं।

खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,बाल कल्याण समिति ने बच्चों की माता व सौतेले पिता को कार्यालय में बुलाया तो सौतेला पिता समिति के सदस्यों के साथ ही उलझ पड़ा कि यह हमारा घर का मामला है आप कौन होते हो। ऐसे में बाल कल्याण समिति सदस्य वंदना गौड़ ने सौतेले पिता को कानून का पाठ पढ़ाया और बताया कि आप बच्चों से मारपीट नहीं कर सकते हो, अगर आप बच्चों की परवरिश नहीं कर सकते हो, तो बच्चें हमे दे दो। बच्चों की माता से पूछा कि आप बच्चों का ध्यान क्यों नही रखती उसने जबाब दिया कि मैं काम करती हूं समय नहीं मिलता है।

गंगानगर न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story