Samachar Nama
×

Madhya Pradesh में इंदौर और भोपाल बना हॉटस्पॉट

Madhya Pradesh में इंदौर और भोपाल बना हॉटस्पॉट
मध्य प्रदेश न्यूज डेस्क !!! मध्यप्रदेश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आहट तेजी से सुनाई देने लगी है। राज्य में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है । इंदौर और भोपाल तो हॉट स्पॉट बन गए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी आर के मिगलानी भी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। राज्य में कोरोना महामारी का दायरा बढ़ता जा रहा है और एक दिन में मरीजों के मिलने की संख्या तीन हजार के करीब पहुॅच गई है। इंदौर और भोपाल हॉटस्पॉट में बदल गए हैं। इंदौर में बीते 24 घंटों में 948 मरीज सामने आए हैं वही भोपाल में 562 केस मिले हैं। इसके साथ ही ग्वालियर में 300 और जबलपुर में 200 से ज्यादा मरीज मिले हैं। राज्य के 52 में से 48 जिलों तक कोरोना पहुॅच चुका है।राजधानी में कोरोना की चपेट में सरकार के मंत्री से लेकर प्रशासनिक अधिकारी तक आ चुके हैं। अब कमलनाथ के ओएसडी आर के मिगलानी भ्ीा संक्रमित हो गए हैं और उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्हें सर्दी और खांसी की शिकायत है। इसी तरह पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव भी कोरोना संक्रमित हेा चुके है।राजधानी में तो एक मरीज के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने की बात सामने आई है। वह युवती पिछले दिनों ही यूनाइटेड स्टेट्स से लौटी है। उसकी ट्रैक्ट कॉन्ट्रेसिंग करा ली गई है, मगर कोई भी पॉजिटिव नहीं पाया गया है।

राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रभाव और बच्चों में भी संक्रमण बढ़ने पर आठवीं तक के स्कूल बंद करने की चचार्एं जोरों पर हैं। सूत्रों का कहना है कि पिछले रोज स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने भी स्कूल बंद करने की पैरवी की थी, मगर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आने वाले दिनों में कुछ और इंतजार करने को कहा है।राज्य के गृहमंत्री डा नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में केारोना के 2857 केस आए हैं। इसके साथ राज्य में कुल एक्टिव केसों की संख्या 10987 हो गई है। वर्तमान में कोरोना की संक्रमण दर चार प्रतिशत और रिकवरी रेट 97.80 प्रतिशत है। सोमवार को प्रदेश में 79023 टेस्ट हुए हैं।उन्होनंे बताया कि प्रदेश में कोरोना के डेल्टा और ओमिक्राून वेरिएंट के चलते आई कोरोना की तीसरी लहर का मुकाबला करने और हानि को कम करने के लिए सभी तैयारियां पूरी तरह मुकम्मल है। संक्रमितों की पहचान के लिए टेस्ट बढ़ा दिए गए है।

राज्य के बच्चों के भी संक्रमित होने के मामले सामने आ रहे है और स्कूलों केा बंद करने की भी चचार्एं है। इस मसले पर गृहमंत्री का कहना है कि स्कूलों को लेकर स्वयं मुख्यमंत्री चौहान ने स्कूल शिक्षा विभाग के साथ समीक्षा की।अभी बच्चों और पालकों के हितों को देखते हुए सभी निर्णय लिए जा रहे हैं। अगर स्थिति गंभीर हुई तो तत्काल निर्णय लिए जाएंगे।

--आईएएनएस

भोपाल न्यूज डेस्क् !!! 

एसएनपी/आरजेएस

Share this story