×

Shimla शहर के नेता भी संभालेंगे जुब्बल कोटखाई में चुनाव की कमान

Shimla शहर के नेता भी संभालेंगे जुब्बल कोटखाई में चुनाव की कमान

हिमाचल प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!! नगर निगम की मासिक बैठकें कराने की स्वीकृति मिलने के बावजूद इसके होने की उम्मीद फिलहाल कम नजर आ रही है। नगर निगम के कई पार्षद जुब्बल-कोटखाई के संपर्क में हैं।  शिमला के पंधाघाटी क्षेत्र के संजौली और कुसुम्प्टी में जुब्बल-कोटखाई के कई लोग रहते हैं। चुनाव प्रचार में नगर निगम के मेयर से लेकर डिप्टी मेयर तक जाने का फैसला लिया गया है। मंजूरी के बावजूद पिछले महीने की मासिक बैठक भी चुनाव के बाद होने की उम्मीद है।

इसी तरह निगम की वित्त समिति की बैठक इसी माह होने की संभावना नहीं है, प्रशासन की ओर से इसे अगले दो-तीन दिन में कराने का प्रस्ताव तैयार किया जाएगा। महापौर के शिमला लौटने के बाद ही इस पर मंजूरी मिलेगी। शिमला मेयर सत्या कौंडल भाजपा प्रत्याशी नीलम सरायक के प्रचार में जुब्बल-कोटखाई पहुंच गई हैं। स्थानीय डिप्टी मेयर होने के नाते उन्हें पार्टी प्रत्याशी के प्रचार के लिए भी जाना पड़ सकता है। जुब्बल-कोटखाई में निगम के कई पार्षद व पूर्व पार्षद पहुंच चुके हैं।

नगर निगम में कई पार्षद इसी क्षेत्र से आते हैं। इन सभी को प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार के लिए जाना पड़ सकता है। कुछ पार्षद भाजपा के हैं तो कुछ कांग्रेस के। वहीं निगम के पूर्व महापौर से लेकर कुछ पार्षदों तक पार्टी में पदाधिकारी हैं, उनका कर्तव्य भी चुनाव में लगना है। चुनाव प्रबंधन या किसी अन्य कार्य के लिए पार्टी पदाधिकारी भी निर्वाचन क्षेत्र में रहेंगे। चुनावी माहौल में हर कोई अपनी पार्टी के उम्मीदवार की जीत के लिए पसीना बहाएगा, लेकिन शहर का विकास एक महीने पीछे हो सकता है। नगर के विकास के लिए जितने भी एजेंडे पार्षदों ने प्रशासन को दिए हैं, उन्हें मंजूरी का इंतजार करना होगा। कुछ पार्षद जल्द ही घर बनवाना चाहते हैं। उनका तर्क है कि नगर निगम के चुनाव भी अगले साल होने हैं, कामों को मंजूरी मिलेगी, वे अपने वार्डों में जितना विकास करा सकेंगे। इसका फायदा उनकी पार्टी को अगले चुनाव में भी मिलेगा।

शिमला न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story