×

Kullu किन्नौर में सभी को वैक्सीन की दोनों डोज लगी, देश में ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाला किन्नौर पहला जिला

Kullu किन्नौर में सभी को वैक्सीन की दोनों डोज लगी, देश में ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाला किन्नौर पहला जिला

हिमाचल प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!! किन्नौर जिला कोविड का टीका लगाने वाला देश का पहला जिला बन गया है, जहां निर्धारित लक्ष्य के सभी लोगों को कोविड के दोनों टीके दिए जा चुके हैं। बुधवार को यह जानकारी किन्नौर के डीसी आबिद हुसैन सादिक ने दी। उन्होंने कहा कि जिले के कुल 60,305 व्यक्तियों को कोविड रोधी टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे बुधवार को पूरा कर लिया गया। जिले के सभी लोगों को कोविड के दोनों टीके दिए जा चुके हैं।  राज्य में राहत की बात यह है कि डेल्टा प्लस वेरिएंट नहीं मिला है।

स्वास्थ्य विभाग की सैंपल रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। विभाग ने कुछ दिन पहले राज्य में काेराेना संक्रमण के नए रूप का पता लगाने के लिए नमूने जांच के लिए दिल्ली भेजे थे। इसकी रिपोर्ट विभाग को मिल गई है। राज्य में तेजी से फैल रहा डेल्टा प्लस वेरिएंट नहीं मिला है। रिपोर्ट में 5 जिलों में डेल्टा, दो जिलों में यूके और एक जिले में दूसरा संस्करण पाया गया।

हमीरपुर, सालेन, कांगड़ा, आईएचबीटी, चंबा और नाहन में डेल्टा संक्रमण पाया गया है। हमीरपुर में सबसे ज्यादा 14, कांगड़ा में 13, चंबा में 11, सालेन और नाहन में तीन-तीन मामले मिले हैं। यूके स्ट्रेन का एक अन्य प्रकार कांगड़ा में और 3 चंबा में पाया गया है, दूसरा प्रकार सालन में पाया गया है। हमीरपुर में काेराेना के बढ़ते मामलों का पता लगाने के लिए नए वेरियंट का पता लगाने के लिए सैंपल भरे गए, जिससे अब साफ हो गया है कि डेल्टा वेरियंट की वजह से यहां मामले बढ़ रहे हैं, ऐसे में एहतियात बरतना बेहद जरूरी है।

डेल्टा प्लस जैसे नए वेरिएंट को लेकर स्वास्थ्य विभाग काफी डरा हुआ था क्योंकि राज्य में कोरोना संक्रमण के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। विभाग को डर था कि डेल्टा प्लस वेरिएंट के कारण मामले कम नहीं हो रहे हैं, लेकिन विभाग को मिली इस रिपोर्ट ने विभाग की इस चिंता को कम कर दिया है। ये अधिक घातक रूप हिमाचल में नहीं पाए गए हैं।

राज्य में अभी भी काेराेना की दूसरी लहर का खतरा टला नहीं है। प्रदेश के कई जिलों में अभी भी डेल्टा वेरियंट का खतरा बना हुआ है। भले ही लोगों को करीना की वैक्सीन मिल गई हो, लेकिन फिर भी डेल्टा वेरिएंट के खतरे से बचने की बेहद जरूरत है। राहत की बात यह है कि दिल्ली से आई रिपोर्ट में कोई नया वेरिएंट नहीं मिला है।
ऊना में एक मरीज की कोरोना से मौत भी हो गई है। इससे राज्य में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 3695 हो गई है। बुधवार को बिलासपुर में 6, चंबा में 1, हमीरपुर में 34, कांगड़ा में 42, कुल्लू और किन्नैर में एक-एक मरीज पॉजिटिव आए हैं। मंडी में 26, शिमला में 12, सालेन में 5 और ऊना में 11। इससे राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर दो लाख 20 हजार 931 हो गई है।

कुल्लू न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story