×

GANGANAGAR सोशल मीडिया से दूरी, नियमित पढ़ाई देश में 46वीं रैंक ला सीए बनी नेहा

Angry cow attacked firefighter, see what happened next in the video

राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!! नेहा ने स्कूल शिक्षा के बाद बीकाॅम की परीक्षा गुरमीतसिंह घनश्यामदास कन्या महाविद्यालय पदमपुर से उत्तीर्ण की।2018 में आईपीसीसी में सफलता हासिल की। अब वर्ष 2021 में सीए के फाइनल एग्जाम में देश भर में 46वीं रैंक हासिल कर जिले के साथ-साथ प्रदेश का नाम भी राेशन किया है। अब नेहा का लक्ष्य मल्टीनेशनल कंपनी में सेवाएं देना है।सीए फाइनल की परीक्षा में पदमपुर की बेटी नेहा बादलानी ने देश में 46वीं रैंक हासिल की है। नेहा का कहना है कि अधिक समय तक पढ़ने से बेहतर है कि हम लगन से तैयारी करें। आपकी जानकारी के लिए बता दे की,नेहा सिंधी समाज अध्यक्ष लालचंद बादलानी की भतीजी है।

देश भर में 46 वां रैंक हासिल हाेना बड़ी उपलब्धि है। विधायक गुरमीत सिंह कुन्नर ने भी नेहा काे बधाई दी। खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,मेरी मा मां अंजना प्राइवेट टीचर हैं। उन्हाेंने ही मुझे पढ़ाई और परीक्षा की तैयारी का मंत्र दिया। श्रीगंगानगर ब्रांच के फाउंडर चेयरमैन सीए पवन मित्तल बताते हैं, श्रीगंगानगर में नेहा ने बड़ी सफलता हासिल की है।परीक्षा की तैयारी के लिए मैं साेशल मीडिया और टीवी से पूरी तरह से दूर रही। पिता भगवानदास बादलानी फाेटाेग्राफर हैं। मैं और भाई राेहन जुड़वां हैं। भाई रोहन का स्क्रेप बिजनेस है। हमारे परिवार ने भी बेटा-बेटी में अंतर नहीं माना जाता।

वर्ष 2017 में सीपीटी व 2018 में आईपीसीसी में सफल रही। परीक्षा चाहे काेई भी हाे सफलता के लिए अनुशासन और समय प्रबंधन आवश्यक है। पढ़ाई दबाव में नहीं की जा सकती है। तीन साल ननिहाल अलवर में रही। वहीं सीए अजय सिंघल और गाैरव गुप्ता के निर्देशन में तैयारी के साथ-साथ ट्रेनिंग भी की। काेराेनाकाल मेरे लिए चुनाैती की तरह था। इस दाैरान परिवार व गुरुजनाें ने हाैसला बढ़ाया। लॉकडाउन अवधि में ऑनलाइन माेबाइल से नियमित तैयारी की। इससे न केवल तनावमुक्त रहने में मदद मिली बल्कि मेरी पढ़ाई भी बाधित नहीं हुई। शुरू से ही मेरा लक्ष्य सीए बनकर मल्टीनेशनल कंपनी में काम करना था।   मैंने अपना लक्ष्य खुद तय किया। इसमें परिवार का भरपूर सहयाेग रहा। परिवार ने हमेशा आगे बढ़ने की प्रेरणा दी।

Share this story