×

Jhalawar राशन डीलर की कालाबाजारी, 250 क्विंटल गेहूं राशन डीलर खा गया, दो माह बाद भी रसद विभाग ने नहीं की वसूली

k

गरीबों का गेहूं जिले के कई राशन डीलर खा रहे हैं,फिर भी कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं अधिकारी। नोहरथाना प्रखंड रावसयां ग्राम पंचायत के महाराजपुरा राशन डीलर का निरीक्षण लॉजिस्टिक्स विभाग की टीम ने किया था। इस पंचायत में 250 क्विंटल गेहूं गायब पाया गया। इस पर कार्रवाई करते हुए राशन डीलर को निलंबित कर दिया गया।लेकिन गेहूं की वसूली भी तक नहीं हो पाई है। लॉजिस्टिक्स विभाग के अधिकारियों का कहना है कि डीलर को नोटिस जारी कर दिया गया है, लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि डीलर ने अभी तक नोटिस का जवाब नहीं दिया है. दरअसल महाराजपुरा के राशन डीलर ने लोगों को एक भी अनाज नहीं बांटा. लोग अभी भी अपने हिस्से का राशन लेने के लिए भटक रहे हैं, लेकिन कई बार शिकायत करने के बाद भी उन्हें गेहूं नहीं मिल रहा है।

इसलिए होती है गड़बड़ियां 

10 हजार क्विंटल गेहूं राशन डीलर लोगों के साथ खेल खेल में गेहू को अपने घर ले जाते है।    जिले में कई राशन की दुकानें ऐसी हैं जहां पर कई क्विंटल गेहूं अधिशेष है, लेकिन उसके बाद भी वहां पूरा आवंटन हर माह किया जाता है। इसका फायदा कई राशन डीलर कालाबाजारी कर उठा लेते हैं। पिछले करीब तीन माह में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं। ऐसे में रसद विभाग के अधिकारी भौतिक सत्यापन भी नहीं कर पा रहे हैं। यहां रसद इंस्पेक्टरों के पद रिक्त होने के चलते दुकानों का निरीक्षण भी नहीं हो पाता है।

जानिए... आवंटन का खेल

मनोहरथाना ब्लॉक की एफपीएस कोड दुकान नंबर 15522 मनपसर में 30 क्विंटल गेहूं की मांग है, लेकिन यहां पर 153 क्विंटल का स्टॉक अभी भी मौजूद है। अकलेरा ब्लॉक की थरोल पंचायत की राशन दुकान पर 145 क्विंटल गेहूं मौजूद है, लेकिन फिर भी यहां हर माह पर्याप्त आवंटन किया जा रहा है।{बकानी ब्लॉक की देवरी पंचायत की राशन दुकान पर हर माह 100 क्विंटल गेहूं अधिशेष है। इसके बाद भी यहां हर माह आवंटन किया जा रहा है।^महाराजपुरा राशन डीलर को सस्पेंड कर दिया गया है। उसको नोटिस जारी किया है। हालांकि उसने नोटिस का जवाब अभी तक नहीं दिया है। वसूली की कार्रवाई होगी।-विनोद कुमार, रसद इंस्पेक्टर

Share this story