×

Patna कालिदास रंगालय में वर्चुअल उद्घाटन आज शाम, कल कोरोना रूपी रावण का वध करेंगे राम

वर्षों से 9 दिनों तक चलने वाली रामलीला को कोरोना ने 5 घंटे में सिमटा दिया है। अब 5 घंटे में पूरी रामलीला होगी और 24 घंटे में ही रावण वध हो जाएगा। कोरोना के साइड इफेक्ट से पहले कलाकार भी बाहर से आते थे, लेकिन अब बिहार के कलाकार ही पूरी रामलीला करेंगे। गुरुवार शाम 5 बजे वर्चुअल रामलीला का शुभारंभ हो जाएगा और शुक्रवार को विजय दशमी पर शाम साढ़े 4 से 5 बजे के बीच राम के हाथों रावण का वध हो जाएगा।  दशहरा कमेटी के अध्यक्ष कमल नोपानी का कहना है कि कोरोना के कारण रामलीला बदल गई है। एक साल पूर्व कोरोना काल में पटना में रामलीला नहीं हो पाई थी। इस कारण से पटना की रामलीला को मथुरा में कराया गया था। इस बार भी रामलीला का वह स्वरूप नहीं है। कोरोना के कारण इस बार रामलीला को कालिदास रंगालय में कराया जा रहा है। पूर्व में 9 दिनों तक रामलीला चलती थी और 10वें दिन रावण का वध राम के हाथों होता था। गांधी मैदान में होने वाला रावण वध का कार्यक्रम लोगों का मन मोह लेता था, लेकिन इस बार कोरोना के कारण सब कुछ बदल गया है।  रावण के साथ जरूरी है कोरोना का वध  दशहरा कमेटी के अध्यक्ष कमल नोपानी का कहना है कि इस बार दशहरा में रावध के साथ कोरोना का वध किया जा रहा है। कोरोना का वध इसलिए जरूरी है, क्योंकि पूरा विश्व कोरोना से परेशान है। रावण का वध बुराई पर अच्छाई के विजय से है। हम इस बार रामलीला में कोरोना का वध इसलिए करा रहे हैं, क्योंकि रावण के साथ कोरोना भी विश्व से चला जाए। कोरोना के कारण पूरा विश्व तबाह है और अब राम से यही प्रार्थना है कि कोरोना से मुक्ति मिल जाए। बुधवार को ही कोरोना को बनाकर तैयार कर लिया गया है। कोरोना का वध राम के हाथों कराकर इसे पूरे देश से मिटाने की मनोकामना के साथ पूरी तैयारी की गई है।


बिहार न्यूज़ डेस्क !!! वर्षों से 9 दिनों तक चलने वाली रामलीला को कोरोना के संकट ने 5 घंटे में सिमटा दिया है और अब 5 घंटे में पूरी रामलीला होगी और 24 घंटे में ही रावण वध कर दिया जाएगा । बताया जा रहा है कि, कोरोना के साइड इफेक्ट से पहले कलाकार भी बाहर से आते थे, मगर अब बिहार के कलाकार ही पूरी रामलीला करेंगे । गुरुवार शाम 5 बजे वर्चुअल रामलीला का शुभारंभ हो जाएगा और शुक्रवार को विजय दशमी पर शाम साढ़े 4 से 5 बजे के बीच राम के हाथों रावण का वध हो जाएगा ।

इसके बारे में दशहरा कमेटी के अध्यक्ष कमल नोपानी ने बताया है कि, कोरोना के कारण रामलीला बदल गई है और एक साल पूर्व कोरोना काल में पटना में रामलीला नहीं हो पाई थी । इस कारण से पटना की रामलीला को मथुरा में कराया गया था । कोरोना के कारण इस बार रामलीला को कालिदास रंगालय में कराया जा रहा है । दशहरा कमेटी के अध्यक्ष कमल नोपानी का कहना है कि इस बार दशहरा में रावध के साथ कोरोना का वध किया जा रहा है । कोरोना का वध इसलिए जरूरी है, क्योंकि पूरा विश्व कोरोना से परेशान है । इसके आगे कमल नोपानी ने बताया है कि,  बुधवार को ही कोरोना को बनाकर तैयार कर लिया गया है और कोरोना का वध राम के हाथों कराकर इसे पूरे देश से मिटाने की मनोकामना के साथ पूरी तैयारी की गई है ।

पटना न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story