×

ROHTAS  बिहार में लॉकडाउन में मिले सर्वाधिक उद्योग लगाने के आवेदन, बिहारी युवा आत्मनिर्भर भारत के सपने को कर रहे साकार

KK

बिहार न्यूज़ डेस्क !!! बिहारी युवा आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार कर रहे हैं। जिले के गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय में विभिन्न संकायों के विद्यार्थियों को’ उद्यमिता से गतिशीलता’ एक प्रवृत्ति नामक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि, मंत्रालय उद्योग लगाने के मिले प्रस्तावों का अध्ययन कर तेजी से अनुमोदन कर रहा है। कहां कि बिहार में जल्द ही औद्योगिक विकास का माहौल बनेगा, जिसमें युवाओं का योगदान सर्वाधिक होगा। ‌

उद्योग मंत्री ने कहा कि विदेशों में भी बिहारी का डीएनए नहीं बदलता और वह कर्मठ व्यक्ति के रूप में जाना जाता है। कार्यक्रम में कुलाधिपति सह सांसद गोपाल नारायण सिंह, कुलपति डॉ एम एल वर्मा भी उपस्थित थे। खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,बिहार सरकार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन मंगवार को रोहतास में कहा है कि बिहार के परसेप्शन को देश-विदेश में हमारा युवा वर्ग ही बदल सकता है।

बिहार में लॉकडाउन के समय से अभी तक सर्वाधिक उद्योग लगाने हेतु प्रपत्र प्राप्त हुए हैं। कार्यक्रम का संचालन प्रबंध संकाय अध्यक्ष प्रो आलोक कुमार ने किया। अवसर पर प्रबंध संकाय के अंतर्गत वाणिज्य एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभागों के दो अध्यापकों डॉक्टर किशन जी राव एवं डॉक्टर सतीश कुमार गुप्ता द्वारा लिखित चार पुस्तकों का लोकार्पण भी उद्योग मंत्री ने किया। कृषि संस्थान के कुछ उत्पादों को डॉक्टर संदीप मौर्या द्वारा सप्रेम भेंट किया गया। कार्यक्रम के अंत में विश्वविद्यालय के शैक्षिक निदेशक सुदीप कुमार सिंह ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Share this story