×

Nalanda गंगा में डूबते बेटे को बचाने के लिए पिता ने लगा दी छलांग

मंदिर के पुजारी जीवछ पाठक, पंचायत के पूर्व मुखिया व परामर्श समिति अध्यक्ष डॉ. अनिल झा उर्फ गुलाब, पूर्व पंसस पवन झा, पूर्व सरपंच शंकर झा, कहते हैं कि वैशाख माह में सीमावर्ती सहरसा जिले के सभी गांवों के भक्त सामूहिक रूप से कमल फूल का भार लेकर यहां मां ज्वालामुखी का पूजन करने के लिए विगत कई वर्षों से आते हैं। पूरे गांव के लोग उन भक्तों के सेवा सत्कार में लगे रहते हैं। वहीं नेपाल के राजविराज सप्तरी और बंगाल की नोवा मंडी जैसे दूर दराज के इलाकों से भी भक्तगण यहां पूजा-अर्चना के लिए आते हैं। वहीं इस मंदिर की उत्तर दिशा में शंभू बाबा का आश्रम है।


बिहार न्यूज़ डेस्क !!! महाष्टमी की पूजा की तैयारियों में लगे बाप और बेटे हादसे का शिकार हो गए हैं । बताया जा रहा है कि, पूजा के लिए पंडित ने मिट्‌टी की आवश्यकता बताई तो उसे लाने के लिए बाप और बेटा दोनों साथ गए थे मगर गंगा नदी में नहाने के दौरान बेटा नदी की गहराई में चला गया और वो डूबने लगा जिसको देखकर उसके पिता ने उसे बचाने के लिए नदी में छलांग लगा दी मगर बेटे को बचाने की जगह बाप भी डूबने लगा और चंद मिनटों में दोनों नदी की गहराई में समा गए । बताया जा रहा है कि ये पूरा हादसा बुधवार का हैं और ये हादसा मालसलामी थाना के तहत पीड़दमरिया इलाके के घाट पर हुआ ।

बताया जा रहा है कि, अचानक हुए इस हादसे से उस समय गंगा घाट पर मौजूद लोगों के बीच हड़कंप मच गया और घाट से ही कॉल कर लोगों ने मालसलामी थाना की पुलिस को जानकारी दी जिसके बाद सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और फिर SDRF की टीम को बुलाया गया । जिसके बाद पिछले कई घंटे से टीम लगातार गंगा नदी में मशक्कत कर रही है मगर अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है ।

पुलिस के अनुसार गंगा में डूबे व्यक्ति की पहचान 40 साल के संजय कुमार चौरसिया के रूप में हुई है। 15 साल का क्रिस इनका बेटा था । घाट पर मौजूद लोगों ने पुलिस को बताया कि क्रिस नदी में नहा रहा था। उसे नदी की गहराई का पता नहीं था और जैसे ही वो घाट से थोड़ा आगे बढ़ा, सीधे गहराई में चला गया सिजके बाद उसके पिता भी उसे बचाने के लिए नदी में कूद गए और उसके बाद दोनो डूबने लगे ।

नालंदा न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story