×

MOTIHARI  स्वर्ण व्यवसायी की हत्या के विरोध में बंद रहा सर्राफा बाजार, उच्चस्तरीय जांच की उठी आवाज

KK

बिहार न्यूज़ डेस्क !!! सर्राफा व्यवसायी संघ के अध्यक्ष माधोलाल सर्राफ की नेतृत्व में पहले व्यवसायियों ने अपनी-अपनी दुकानें बंद रखी।माधोलाल सर्राफ ने कहा कि गत वर्ष दीपावली के समय सोना-चांदी आभूषण कारीगर मुकेश की भी हत्या आदापुर नहर रोड में कर दी गयी थी। उसमें आज तक पुलिस आरोपी को नहीं पकड़ पाई। ये सब प्रशासनिक विफलता को दर्शाता है। खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,व्यापारी हर बार सुरक्षा की मांग करते हैं। लेकिन उन्हें सुरक्षा नहीं दी जाती। इस घटना की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। इधर, विरोध के बाद सभी दुकानें बंद रही और लोगों ने अपनी एकजुटता दिखाई। विरोध प्रदर्शन के दौरान व्यवसायियों में आक्रोश था। उनका कहना था कि आखिर यह कब तक चलेगा।  अपराधी बेलगाम हो चुके हैं।

 सुमन सर्राफ, उमेश सर्राफ, रमेश सर्राफ, कन्हैया सर्राफ, हरेन्द्र प्रसाद सर्राफ, भगत सर्राफ, प्रेमचंद्र सर्राफ, मुकेश सर्राफ, मोहन सर्राफ सहित दर्जनों की संख्या में स्वर्ण व्यवसायी मौजूद थे।सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि, रक्सौल बाजार के स्वर्ण व्यवसायी एवं पलनवा थाना क्षेत्र के परसौना तपसी गांव निवासी कपिलदेव सर्राफ व उसके चचेरा पोता भुटकुन कुमार उर्फ चंदन की सोमवार की देर शाम गोली मारकर हत्या के विरोध में मंगलवार को रक्सौल सर्राफा बाजार बंद रहा। रक्सौल बाजार से परसौनी तपसी गांव लौटने के दौरान बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी कपिलदेव को डिबनी घाट पुल के समीप गोली मारी। जख्मी हालत में किसी व्यक्ति द्वारा उनका वीडियो बनाया गया, जो वायरल हो रहा है। उक्त वीडियो में कपिलदेव ने बताया है कि एक बाइक पर तीन लोग सवार थे। जिसमें उसने दो की पहचान की। जबकि तीसरे की पहचान नहीं कर सका। इसमें रक्सौल का दिनेश प्रसाद उर्फ दिनेश महासेठ तथा सिसवा गांव का मधु यादव का नाम बताया है। इलाज के क्रम में कपिलदेव सर्राफ की भी मौत देर रात हो गई।

Share this story