Samachar Nama
×

अब खून की कमी से नहीं मरेंगे मरीज, ड्रोन पहुंचाएंगे द्रुतगति से खून

अब खून की कमी से नहीं मरेंगे मरीज, ड्रोन पहुंचाएंगे द्रुतगति से खून

जयपुर। अस्पताल में जब मरीज को खून की जरूरत पड़ती है तब कई बार उसी ग्रुप का खून मिलने में बहुत मुश्किल आती हैं। कई बार तो मरीज की जान पर बन आती है। ऐसे में सही समय पर रोगी को संबंधित समूह का रक्त मिलना बहुत ही मुश्किल काम होता है। इसी समस्या का हल खोजने की कोशिश में तकनीक का सहारा लिया गया है। स्वचालित विमान जिन्हें ड्रोन भी कहा जाता है, उनकी मदद से मरीज तक द्रुतगति से खून पहुंचाने की योजना शुरू की गई है।अब खून की कमी से नहीं मरेंगे मरीज, ड्रोन पहुंचाएंगे द्रुतगति से खूनबता दे कि हाल ही में दूर दराज के इलाकों में रक्त की अबाधित आपूर्ति के लिए दुनिया की सबसे तेज ड्रोन डिलीवरी सर्विस तैयार की गई है। बता दे कि अमेरिका की विख्यात रोबोट निर्माता कम्पनी जिपलाइन ने यह योजना शुरू की है। मरीज की जान बचाने के लिए खास तरह के ड्रोन बनाए गए हैं। इन स्वचालित विमानों की मदद से किसी भी दुर्गम इलाकें में तुरंत मेडिकल मदद भेजी जा सकेगी।

अब खून की कमी से नहीं मरेंगे मरीज, ड्रोन पहुंचाएंगे द्रुतगति से खून

कंपनी ने इसकी शुरूआत अफ्रीका के रवांडा से की है। इस इलाके में दूर दराज के क्षेत्रों में बीमार होने वाले लोगों को ड्रोन की मदद से तुरंत मेडिकल सहायता भेज दी जाती है। कंपनी काफी चर्चा में है। हालांकि अब कंपनी इन ड्रोन में और भी कई नई सुविधाएं देने पर विचार कर रही हैं। बता दे कि तकनीक की मदद से अगर किसी इंसान की जान बच रही है तो यह काफी अच्छी सोच है।

अब खून की कमी से नहीं मरेंगे मरीज, ड्रोन पहुंचाएंगे द्रुतगति से खून

ब्लड डिलीवरी ड्रोन सिस्टम को खास तौर पर ऐसे इलाकों के लिए बनाया गया है जहां पर आवागमन के साधनों की बहुत कमी होती है। ऐसे में रोगी को समय पर इलाज ने मिलने से अक्सर उसकी मौत हो जाती है। लेकिन अब इस नई तकनीक की मदद से तुंरत मेडिकल हेल्प भेज दी जाती है। इस सुविधा का लाभ लेने के लिए डॉक्टर को बस एक टैक्स्ट मैसेज करना होता है जो सैंट्रल डिस्ट्रीब्यूशन सैंटर द्वारा प्राप्त किया जाता है। लोकेशन के अनुसार तुरंत ड्रोन भेज दिया जाता है।अब खून की कमी से नहीं मरेंगे मरीज, ड्रोन पहुंचाएंगे द्रुतगति से खून

Share this story