Samachar Nama
×

सीनियर सिटीजन को मिलते हैं ये Tax बेनिफिट, क्या आपने लिया है कभी फायदा!

सीनियर सिटीजन को मिलते हैं ये टैक्स बेनिफिट, क्या आपने लिया है कभी फायदा!

यूटिलिटी न्यूज डेस्क् !!!  शायद इस बात को आप नहीं जानते होंगे मगर केंद्र सरकार सीनियर सिटीजन को इनकम टैक्स में कई रियायत देती है जिसमें सालाना आमदनी पर आयकर की छूट तो मिलती है मगर इसके साथ ही दूसरी और भी रियायती दी जाती हैं । इसके पीछे सबसे बड़ा कारण ये है कि, सिनियर सिटीजन की आय के स्त्रोत काफी कम होते हैं और उनकी दवा आदि पर होने वाला खर्च काफी ज्यादा होता है जिसके कारण सरकार 60 से 80 साल तक की उम्र के सीनियर सिटीजन को इनकम टैक्स में छूट देती है इसके अलावा 80 साल से ज्यादा आयु वाले लोगों को सुपर सीनियर सिटीजन की श्रेणी में रखा जाता है जिनको ज्यादा फायदा मिलता है । तो आज हम आपको बता दें कि इन लोगों को इनकम टैक्स में कितनी छूट दी जाती हैं ।

इनकम टैक्स छूट की सीमा – बताया जा रहा है कि, अभी 60 साल से कम उम्र के लोगों को सालाना 2 लाख 50 हजार रुपये तक की आमदनी पर टैक्स नहीं चुकाना पड़ता हैं । वहीं सीनियर सिटीजन के लिए ये सीमा 3 लाख रुपये और सुपर सीनियर सिटीजन के लिए ये सीमा 5 लाख रुपये है ।

निवेश पर मिलने वाली ब्याज पर छूट – इस बात को हम सब जानते हैं कि, सीनियर सिटीजन जीवन भर की सेविंग को फिक्स्ड डिपॉजिट करके उससे मिलने वाली ब्याज से अपना खर्च चलाते हैं । ऐसे में सीनीयर सिटिजन को 80TTB के तहत फाइनेंशियल ईयर में 50 हजार रुपये तक की आय पर टैक्स में छूट मिलती है ।

मेडिकल इंश्योरेंस प्रीमियम पर डिडक्शन – सीनियर सिटीजन को एक साल में 50 हजार रुपये तक के मेडिकल इंश्योरेंस पर डिडक्शन दिया जाता हैं । जिसमें सीनियर सिटीजन को इनकम टैक्स अधिनियम के सेक्सन 80D के अनुसार छूट ​दी जाती हैं ।

मेडिकल खर्चों पर टैक्स छूट – हम सभी जानते हैं कि उम्र के साथ दवाओं का खर्च भी बढ़ जाता हैं और शायद इसलिए ही सरकार ने भी सीनियर सिटीजन को आयकर में अधिक छूट दी है । बता दे कि, आयकर अधिनियम के सेक्शन 80 डीडीबी के तहत एक सीनियर सिटीजन 1 लाख रुपये तक के मेडिकल खर्च पर डिडक्शन का फायदा उठाते हैं ।

Share this story