Samachar Nama
×

स्वाद ही नहीं सेहत से भी भरपूर है डार्क चॉकलेट

फगर

डार्क चॉकलेट से सेहत को होने वाले फायदे: डार्क चॉकलेट खाने या न खाने को लेकर कुछ भ्रांतियां। लेकिन यह सच नहीं है।कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि डार्क चॉकलेट हमारे आहार का हिस्सा होना चाहिए। इससे कई फायदे होते हैं। आइए जानते हैं एवेंटो के बारे में। डार्क चॉकलेट में विशेष रूप से कैफीन की मात्रा अधिक होती है। इसमें मौजूद कोको दिमाग की कार्यप्रणाली को जल्दी सुधारता है। यह बिना किसी अतिरिक्त शुगर-फ्री एनर्जी ड्रिंक के मस्तिष्क की क्षमता को बढ़ा सकता है। इन चॉकलेट्स को खाने से काम पर फोकस और अटेंशन बढ़ता है। इससे एकाग्रता बढ़ती है।

इसलिए गर्भवती महिलाओं को भी सलाह दी जाती है कि एक बार में बिल्कुल डार्क चॉकलेट ही खाएं।

यह त्वचा के लिए भी बहुत अच्छा होता है। यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। यह त्वचा को हुए किसी भी प्रकार के नुकसान को दूर कर उसे मुलायम बनाए रखता है।

यह भी पढ़ें: क्या आप जानते हैं शाम की एक्सरसाइज से होते हैं कितने फायदे?


शोधकर्ताओं का कहना है कि डार्क चॉकलेट में फ्लेवोनॉयड्स होते हैं यह आपकी त्वचा को यूवी किरणों से बचाता है। त्वचा के कैंसर जैसे अन्य त्वचा रोगों को रोका जा सकता है। धूप से होने वाली स्किन एलर्जी को भी इन चॉकलेट्स से चेक किया जा सकता है।

एंटीऑक्सिडेंट की उच्च खुराक केवल डार्क चॉकलेट में पाई जाती है। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक किसी भी फल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट डार्क चॉकलेट में ही पाए जाते हैं। ये ऑक्सीकरण एजेंट के रूप में शरीर की रक्षा करते हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि ये चॉकलेट मूड को भी बूस्ट कर सकती हैं। इसमें न्यूरोट्रांसमीटर, डोपामाइन, सेरोटोनिन और एंडोर्फिन होते हैं जिनमें मूड बढ़ाने का गुण होता है।

डार्क चॉकलेट से तुरंत एनर्जी मिलती है। अगर आपको लो ब्लड प्रेशर है, तो इन्हें लेने से आपका एनर्जी लेवल तुरंत बढ़ जाएगा।

ये डार्क चॉकलेट, अगर कम मात्रा में ली जाए, तो अक्सर शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल से लड़ती हैं। यह शरीर में इंसुलिन के स्तर को भी कम करता है।

यह फ्लेवोनोइड्स से भरपूर होता है जो एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है। ताकि अगर शरीर को गर्म किया जाए तो वह तुरंत कम हो जाएगा।

Share this story