Samachar Nama
×

Benefits of Walnut: पुरुषों के लिए कमाल कर सकते हैं सिर्फ 3 अखरोट, बस इस तरह करें सेवन, मिलेंगे जबरदस्त फायदे!

फगर

वृद्ध लोगों को हृदय संबंधी बीमारियों से पीड़ित होने की संभावना अधिक होती है। वयस्क ज्यादा व्यायाम नहीं करते हैं इसलिए उनके शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का निर्माण होता है। कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन या खराब कोलेस्ट्रॉल के रूप में भी जाना जाता है। एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के कारण हृदय रोग का खतरा अधिक होता है। हालांकि, हाल के एक अध्ययन में पाया गया कि स्वस्थ वृद्ध लोगों में अखरोट खाने से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है। स्पेन में बार्सिलोना हॉस्पिटल क्लिनिक एंड एंडोक्रिनोलॉजी न्यूट्रिशन सर्विस के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगों ने दो साल तक रोजाना लगभग 1/2 कप अखरोट खाया उनमें खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर काफी कम था। इस अध्ययन के नतीजे अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के प्रमुख जर्नल 'सर्कुलेशन' में प्रकाशित हुए थे।

अध्ययन में पाया गया कि अखरोट के रोजाना सेवन से एलडीएल कोशिकाओं की संख्या कम हो जाती है। ये कोशिकाएं हृदय रोग के जोखिम का आकलन करती हैं। अखरोट ओमेगा -3 फैटी एसिड (अल्फा-लिनोलेनिक एसिड) से भरपूर होते हैं जो हृदय स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं।

पिछले अध्ययनों से पता चला है कि अखरोट खाने से खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है और एलडीएल कोशिकाओं की गुणवत्ता में वृद्धि होती है, अध्ययन के सह-लेखक एमिलियो रोज ने कहा। वह स्पेन में बार्सिलोना अस्पताल क्लिनिक और एंडोक्रिनोलॉजी पोषण सेवा में लिपिड क्लिनिक के निदेशक हैं। एलडीएल कोशिकाएं विभिन्न आकारों में आती हैं लेकिन छोटी, घनी एलडीएल कोशिकाएं एथेरोस्क्लेरोसिस का कारण होती हैं, जो रक्त वाहिकाओं में वसा का संचय है, रॉस ने समझाया।

अध्ययन, जो मई 2012 से मई 2016 तक चला, में लोमा लिंडा, बार्सिलोना, स्पेन, कैलिफोर्निया में रहने वाले स्वस्थ वृद्ध लोगों को शामिल किया गया। 63-79 आयु वर्ग के 708 बुजुर्गों (68 प्रतिशत महिलाओं) ने भाग लिया। उन्हें दो समूहों में विभाजित करें एक समूह को हर दिन अखरोट दिया जाता है। समूह के अन्य सदस्यों को अखरोट नहीं दिए गए। प्रतिभागियों को दो साल बाद कोलेस्ट्रॉल के स्तर के लिए परीक्षण किया गया।

परमाणु चुंबकीय अनुनाद स्पेक्ट्रोस्कोपी द्वारा लिपोप्रोटीन के घनत्व और आकार का विश्लेषण किया गया था। हालांकि, विश्लेषण से पता चला कि जिन प्रतिभागियों ने दो साल तक अखरोट खाया उनमें एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम था। कोलेस्ट्रॉल औसतन 4.3 mg/dL कम हुआ।कुल मिलाकर अध्ययन में पाया गया कि कोलेस्ट्रॉल औसतन 8.5 mg/dL कम हुआ।

अखरोट के दैनिक सेवन से एलडीएल कोशिकाओं की कुल संख्या में 4.3 प्रतिशत की कमी आई है। शोध से पता चला है कि छोटी एलडीएल कोशिकाओं की संख्या में 6.1 प्रतिशत की कमी आई है। शोधकर्ताओं ने कहा कि इससे हृदय रोग का खतरा कम होता है। इंटरमीडिएट डेंसिटी लिपोप्रोटीन (आईडीएल) कोलेस्ट्रॉल, जो हृदय रोग का कारण बनता है, भी कम हो जाता है। हालांकि, अखरोट लेने वाले प्रतिभागियों में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल में बदलाव पुरुषों में वैसा ही था जैसा महिलाओं में हुआ था। पुरुषों में कोलेस्ट्रॉल 7.9 प्रतिशत और महिलाओं में 2.6 प्रतिशत कम हुआ।

Share this story