Samachar Nama
×

क्या बढ़ रहा है आपका कोलेस्ट्रॉल जाने इसके लक्षण 

केक

उच्च कोलेस्ट्रॉल का स्तर हृदय रोग सहित कई स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकता है। हालांकि, बहुत से लोगों को इस बात का अहसास नहीं होता है कि उनके शरीर में हाई कोलेस्ट्रॉल जमा हो गया है। इसलिए हाई कोलेस्ट्रॉल को साइलेंट किलर कहा जाता है। उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर का पता लगाने के लिए रक्त परीक्षण की आवश्यकता होती है। लोगों में आमतौर पर उनके वजन या शरीर की चर्बी के आधार पर उच्च कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है। हालांकि, शरीर के अन्य हिस्सों जैसे पैरों में पाए जाने वाले लक्षण भी उच्च कोलेस्ट्रॉल का संकेत देते हैं।

उच्च कोलेस्ट्रॉल के कारण शरीर के कुछ हिस्सों की धमनियों में वसा का निर्माण होता है। यदि वसा शरीर के किसी भी हिस्से में जमा हो जाती है और संचार प्रणाली में बाधा डालती है, तो इसे पेरिफेरल आर्टरी डिजीज (PAD) कहा जाता है। वसा जमा नहीं होने पर कुछ धमनियां पैरों को रक्त की आपूर्ति ठीक से नहीं कर पाती हैं। इसलिए इन लक्षणों का इलाज लापरवाही से नहीं करना चाहिए। अगर आपको अपने पैरों में कोई अंतर दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से मिलें। आइए, अब और अधिक सावधानियों के बारे में जानें।

*त्वचा का रंग बदलना

उच्च कोलेस्ट्रॉल रक्त परिसंचरण को कम कर सकता है और यहां तक ​​कि आपकी त्वचा का रंग भी बदल सकता है। जब पोषक तत्वों और ऑक्सीजन को ले जाने वाला रक्त शरीर के अंगों तक ठीक से नहीं पहुंचता है, तो कोशिकाओं को उचित पोषण नहीं मिलता है। फिर त्वचा का रंग बदल जाता है। पैरों को ऊपर उठाने पर पैरों की त्वचा पीली दिखाई देती है। टेबल के ऊपर से नीचे तक लटकने से त्वचा बैंगनी या नीली दिखाई देती है।

*पैरों और पैरों में ठंडक महसूस होती है

गर्मियों में भी जब शरीर में उच्च कोलेस्ट्रॉल का स्तर होता है तो आपके पैर या पैर पूरे साल ठंडे रहते हैं। यह संकेत दे सकता है कि आपको पेरिफेरल आर्टरी डिजीज है। पैर और पैर ठंडे होने का एक और कारण हो सकता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप डॉक्टर से सलाह लें।

*रात में ऐंठन

यदि शरीर में उच्च कोलेस्ट्रॉल है, तो नींद के दौरान पैर की ऐंठन बढ़ जाएगी। स्तब्ध हो जाना आमतौर पर एड़ी, तर्जनी या पैर की उंगलियों पर होता है। स्वतंत्र रूप से लटकने या बिस्तर पर पैर नीचे बैठने से ऐंठन से राहत मिल सकती है।

*तीव्र दर्द

पैर दर्द पैड के सबसे आम लक्षणों में से एक है। जब आपके पैरों में धमनियां अवरुद्ध हो जाती हैं, तो ऑक्सीजन युक्त रक्त आपके शरीर के निचले हिस्से में आवश्यक मात्रा में नहीं पहुंच पाता है। इससे आपके पैरों का वजन बढ़ जाएगा। साथ ही पैर भी बहुत थके हुए हैं। उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर वाले बहुत से लोग अंगों में सूजन और दर्द का अनुभव करते हैं। पैर के किसी भी हिस्से में जांघ या पीठ तक दर्द महसूस किया जा सकता है। यह एक या दोनों पैरों पर हो सकता है। चलने, जॉगिंग और सीढ़ियां चढ़ने जैसी शारीरिक गतिविधियों को करने पर दर्द तेज हो जाता है।

Share this story