Samachar Nama
×

Oversleeping Side Effects: ज्यादा सोना भी हो सकता है खतरनाक, गंभीर बीमारियों का बढ़ जाता है खतरा

ऍफ़

हम सभी जानते हैं कि पर्याप्त नींद न लेना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि अगर आप ठीक से नहीं सोते हैं तो भी इसका बुरा असर (पेट के बल सोने के नुकसान) हो सकता है। बहुत से लोगों को पेट के बल उल्टा सोने की आदत होती है जिससे गंभीर नुकसान हो सकता है। अगर कोई व्यक्ति लंबे समय तक पीठ के बजाय पेट के बल सोता है, तो कई बीमारियों के विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है।

उल्टा सोने से भी नींद में खलल पड़ता है। कई बार उल्टा सोने की आदत से अनिद्रा की संभावना काफी बढ़ जाती है। आइए जानते हैं उल्टा सोने से सेहत को क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं। उचित नींद की आदतें शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करती हैं। कई बार हम गलत पोजीशन में सो जाते हैं, जिससे कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। कुछ लोगों को सीने में जलन के कारण उल्टा सोने की आदत होती है। सोने की यह पोजीशन शरीर के लिए अच्छी नहीं मानी जाती है। पीठ के बल सोने से शरीर का पोश्चर खराब होता है, जिससे गर्दन, पीठ और कूल्हे में दर्द होता है।

ब्रेस्ट दर्द
अगर महिलाएं लगातार पीठ के बल सोती हैं तो ब्रेस्ट में दर्द हो सकता है। पेट के बल सोने से ब्रेस्ट पर लगातार दबाव पड़ता है और उन्हें दर्द की शिकायत हो सकती है। गर्भवती महिलाओं को भी उल्टा सोने की आदत से बचना चाहिए। उल्टा सोना बच्चे के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।

त्वचा की समस्याओं से राहत
नींद पूरी न होने से त्वचा रूखी और बेजान नजर आने लगती है। पीठ के बल सोने से त्वचा को ठीक से ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है, जिससे त्वचा संबंधी समस्याएं होने लगती हैं। अक्सर, उल्टी के कारण बार-बार नींद में खलल पड़ता है और नींद की कमी हो जाती है। जिससे त्वचा पर पिंपल्स, मुंहासे और झुर्रियां आदि की समस्या भी बढ़ने लगती है। कई बार बिस्तर पर मौजूद गंदगी त्वचा पर कई तरह की समस्याएं पैदा कर देती है।

पेट संबंधित समस्या
पीठ के बल सोने की आदत से पेट से जुड़ी कई समस्याएं भी हो सकती हैं। लगातार उल्टा सोने से अपच, कब्ज और पेट दर्द जैसी समस्याएं होने लगती हैं। उल्टा सोने से रात भर पेट पर दबाव पड़ता है, जिससे पाचन क्रिया प्रभावित होती है। इससे बाद में कब्ज और अपच जैसी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है।

अप्रसन्नता
उलटी सोने की आदत से गर्दन में दर्द की समस्या हो सकती है। पीठ के बल सोने से गर्दन झुक जाती है, जिससे सिर को रक्त की आपूर्ति प्रभावित होती है और गर्दन में दर्द होता है। कभी-कभी गर्भाशय ग्रीवा की समस्याएं इस दर्द को लगातार बना सकती हैं। गर्दन का दर्द कंधों और बाजुओं तक भी फैल सकता है, जिससे सामान्य काम करना मुश्किल हो सकता है।

सिर भारी लगता है
कई बार उल्टा सोने की आदत से नींद पूरी नहीं हो पाती है, जिससे सिर भारी लगता है। अगर आप तकिये को उल्टा करके सोते हैं तो इससे ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित होता है, जिससे सिर में भारीपन और सिरदर्द हो सकता है। लंबे समय तक लेटे रहने से भी सिरदर्द की समस्या बढ़ सकती है।

Share this story