Samachar Nama
×

Diabetes है तो एक दिन में न खाएं इतनी चम्‍मच से ज्‍यादा चीनी

ऍफ़

आपने ज्यादातर युवाओं को स्पोर्ट्स ड्रिंक, कोल्ड ड्रिंक या एनर्जी ड्रिंक पीते देखा होगा। देश में शुगर ड्रिंक पीने का चलन तेजी से बढ़ रहा है। बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक इन ड्रिंक्स का खूब इस्तेमाल होता है। कुछ लोगों का मानना ​​है कि सॉफ्ट ड्रिंक पीना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। हालाँकि, यह एक बड़ी ग़लतफ़हमी है। इन पेय में चीनी की मात्रा अधिक होती है, जिससे मधुमेह और हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। अगर आप भी ऐसी गलती कर रहे हैं तो आपको सावधान रहने की जरूरत है। मीठा पेय पीने की आदत सेहत के लिए बहुत खतरनाक हो सकती है। आइए जानते हैं इसके बारे में।

एक कैन में लगभग 7-10 चम्मच चीनी होती है
हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की एक रिपोर्ट के मुताबिक सोडा, कोल्ड ड्रिंक्स, फलों के जूस, एनर्जी ड्रिंक्स, मीठे पाउडर वाले ड्रिंक्स और दूसरे शुगर वाले ड्रिंक्स का सेवन सेहत के लिए हानिकारक होता है। वे कैलोरी और अतिरिक्त चीनी में उच्च हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि एक चम्मच शक्कर पेय में 4.2 ग्राम चीनी होती है।

सोडा के एक कैन में लगभग 7 से 10 चम्मच चीनी होती है। अगर आप एक गिलास पानी में 10 चम्मच चीनी डालेंगे तो अंदाजा लगाइए कि यह कितनी मीठी होगी। उसे पीने में भी परेशानी हो सकती है। अधिकांश पेय चीनी में उच्च होते हैं। इसमें कैफीन भी होता है जो रक्तचाप बढ़ा सकता है।

मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है
हैरानी की बात यह है कि शक्कर पेय के एक कैन में लगभग 150 कैलोरी होती है, जबकि इसमें लगभग कोई पोषक तत्व नहीं होता है। अगर आप रोजाना इस ड्रिंक के कैन का सेवन करते हैं तो आपका वजन बढ़ जाएगा।

इससे लोगों में मधुमेह, हृदय रोग और समय से पहले मौत का खतरा काफी बढ़ जाता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि जो लोग रोजाना 1-2 डिब्बे शक्करयुक्त पेय पीते हैं, उनमें उन लोगों की तुलना में टाइप 2 मधुमेह का 26% अधिक जोखिम होता है जो पेय नहीं पीते हैं। जोखिम युवा लोगों और एशियाई लोगों के लिए सबसे अधिक है।

फलों का रस कम खतरनाक
हालांकि फलों के रस में चीनी की मात्रा भी अधिक होती है, लेकिन इनमें विटामिन और खनिज सहित कई पोषक तत्व होते हैं। जिससे शरीर को ज्यादा तकलीफ नहीं होती है। जो लोग मधुमेह या मोटापे की समस्या से पीड़ित हैं उन्हें अधिक मीठे फलों का रस पीने से बचना चाहिए। इसके बजाय वे मौसमी फल खा सकते हैं।

Share this story