Samachar Nama
×

इन कारणों से हाथ-पैर में होने लगती है झनझनाहट, भूलकर भी न करें अनदेखा वरना जकड़ लेंगी ये बीमारियां

'

हेल्थ न्यूज़ डेस्क,शरीर का खून कई बार गाढ़ा हो जाता है, जिससे सभी नसों में रक्त का संचार ठीक से नहीं हो पाता है। ऐसा तब होता है जब व्यक्ति व्यायाम और यात्रा से परहेज करता है। लगातार शराब पीने और धूम्रपान करने से भी शरीर में झुनझुनी सी होने लगती है। शरीर में विटामिन बी12 की कमी होने पर भी हाथ पैरों में झनझनाहट होती है। इस तरह की समस्या 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में ज्यादा देखने को मिलती है।

इन कारणों से हाथ-पैरों में झनझनाहट होने लगती है
शरीर में झुनझुनी होना हाई ब्लड प्रेशर का पहला संकेत है। हाई ब्लड प्रेशर से शुगर और हार्ट ब्लॉकेज की समस्या हो सकती है। यह पहली चेतावनी है, इसे नजरअंदाज करने से जान जा सकती है। हाथ पैरों में झुनझुनी हो रही है तो उसकी सही जांच जरूरी है।
विटामिन बी12 और ई की कमी से भी झुनझुनी होती है। साथ ही अगर आप कोई दवा ले रहे हैं तो उसके साइड इफेक्ट से आपको जलन महसूस हो सकती है।
थायराइड आपके हाथों और पैरों में झुनझुनी का कारण भी बनता है। हाथ-पैरों में झुनझुनी हो रही हो तो उसकी ठीक से जांच करवाना और समय पर इलाज कराना जरूरी है।
हाथ या पैर की नस को दबाने पर भी आपके पैरों और हाथों में झनझनाहट होने लगती है। अगर आपको किसी जानवर ने काट लिया है तो आपके पैरों में झुनझुनी भी महसूस हो सकती है।
गर्भावस्था के दौरान गर्भाशय के आकार में वृद्धि के कारण यह पैरों की नसों पर दबाव डालता है, जिससे हाथों और पैरों में झुनझुनी महसूस होती है। डिलीवरी के बाद ज्यादातर यह समस्या दूर हो जाती है।
शुगर लेवल हो गया है हाई तो खाली पेट पिएं ये घर का बना जूस, कंट्रोल में रहेगी डायबिटीज
समय पर इलाज करें
हाथ-पैरों में झनझनाहट को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। अपने डॉक्टर से सलाह लें और व्यायाम के साथ-साथ पहले खाली समय में सुबह टहलने का नियम बना लें। क्योंकि कहा जाता है कि जान है तो जहान है।

Share this story