Samachar Nama
×

सर्दियों में बढ़ जाती है अस्थमा, साइनस के मरीजों की दिक्कत, बरतें ये सावधानियां

'

हेल्थ न्यूज़ डेस्क, साइनस और अस्थमा के मरीजों के लिए ठंड का मौसम बेहद खतरनाक होता है। सर्दियां शुरू होते ही अस्थमा के मरीजों की सांस फूलने लगती है। जबकि साइनस के मरीजों को सर्दी, सिर दर्द और बार-बार छींक आने लगती है। इसलिए ठंड का मौसम शुरू होते ही अस्थमा और साइनस के मरीजों को बेहद सावधान रहने की सलाह दी जाती है। आइए आज हम आपको इस लेख में बताते हैं कि सर्दी के मौसम में साइनस और अस्थमा के मरीजों को किस तरह अपना ख्याल रखना चाहिए।

गर्म कपड़े पहनें
सर्दी के मौसम में सर्दी से बचने के लिए अस्थमा और साइनस के मरीजों को गर्म या ऊनी कपड़े पहनने चाहिए। गिरता तापमान और सर्द हवाएं मिलकर सर्दियों में हमारी मुश्किलें बढ़ा देती हैं, इसलिए शरीर को इनसे बचाने के लिए गर्म कपड़े पहनें।

धूम्रपान से बचें
अस्थमा और साइनस के मरीजों को सर्दियों में जितना हो सके धुएं से दूर रहना चाहिए। ऐसे मरीजों के लिए धुआं काफी घातक साबित हो सकता है। साथ ही अपने बिस्तर को साफ रखने की कोशिश करें। उस पर धूल बिल्कुल नहीं जमनी चाहिए।

गुनगुना पानी पिएं
सर्दी का मौसम आते ही लोगों को खांसी-जुकाम की समस्या होने लगती है। ऐसे मौसम में हमेशा गुनगुना पानी पिएं। गुनगुना पानी न केवल गले को फायदा पहुंचाता है, बल्कि फेफड़ों में बलगम की समस्या से भी बचाता है।

शराब और सिगरेट से दूर
साइनस और अस्थमा के मरीजों के लिए शराब और तंबाकू दोनों ही जहर के समान हैं। इसलिए लोगों को सर्दी के मौसम में इन दोनों चीजों से दूर ही रहना चाहिए। ठंड के मौसम में इन चीजों का सेवन आपकी परेशानी बढ़ा सकता है।


घर मत छोड़ो
सर्दियों में गिरते तापमान और ठंडी हवाओं से बचने के लिए जितना हो सके घर से बाहर न निकलें। इस मौसम में सुबह-शाम घर से बिल्कुल भी बाहर न निकलें। अगर किसी कारण से आपको घर से बाहर जाना पड़े तो गर्म कपड़े पहनें। अपने पैरों को ठंड से बचाने के लिए अपने कानों को ढकें और गर्म जूते पहनें।

Share this story