Samachar Nama
×

कब मनाई जाएगी भाद्रपद संकष्टी चतुर्थी, जानिए शुभ योग और पूजा मुहूर्त

Bhadrapada sankashti chaturthi vrat 2022 date muhurat and shubh yog 

ज्योतिष न्यूज़ डेस्कः हिंदू धर्म में व्रत त्योहारों को बेहद ही खास माना जाता है वही पंचांग के अनुसार भाद्रपद का महीना आरंभ हो चुका है भाद्रपद मास को भादों भी कहते है भादों श्रीकृष्ण और भगवान गणेश की पूजा को समर्पित होता है इस पवित्र महीने में भगवान श्रीकृष्ण के साथ श्री गणेश की पूजा आराधना करना लाभकारी माना जाता है वही भादों कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को संकष्टी गणेश चतुर्थी का व्रत पूजन किया जाता है

Bhadrapada sankashti chaturthi vrat 2022 date muhurat and shubh yog 

आपको बता दें कि इस साल भाद्रपद संकष्टी चतुर्थी का व्रत 15 अगस्त दिन सोमवार को रखा जाएगा। मान्यता है कि इस दिन भगवान श्री गणेश की विधि विधान से पूजा अर्चना करने और उपवास रखने से गणपति प्रसन्न होकर अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं भाद्रपद संकष्टी चतुर्थी को हेरंब संकष्टी चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है तो आज हम आपको अपने इस लेख दवारा संकष्टी चतुर्थी व्रत के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान कर रहे हैं तो आइए जानते हैं। 

Bhadrapada sankashti chaturthi vrat 2022 date muhurat and shubh yog 

जानिए भाद्रपद संकष्टी चतुर्थी का मुहूर्त-
हिंदू धर्म पंचांग के अनुसार 14 अगस्त दिन रविवार को रात 10 बजकर 35 मिनट पर भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि का आरंभ हो रहा है यह तिथि 15 अगस्त दिन सोमवार को रात 9 बजकर 1 मिनट पर समाप्त हो जाएगी। वही उदयातिथि को आधार मानकर 15 अगस्त दिन सोमवार को व्रत पूजन करना लाभकारी होगा। 

Bhadrapada sankashti chaturthi vrat 2022 date muhurat and shubh yog 

वही भाद्रपद संकष्टी चतुर्थी व्रत वाले दिन यानी की 15 अगस्त को चंद्रमा का उदय रात 9 बजकर 27 मिनट पर होगा। चंद्रमा 16 अगस्त को 9 बजकर 4 मिनट पर अस्त हो जाएगा। ऐसे में जो भक्त भाद्रपद संकष्टी चतुर्थी का उपवास रखने वाले है वे 9 बजकर 27 मिनट पर चंद्रमा के दशन करते हुए उन्हें जल अर्पित कर सकते हैं व्रती उसके बाद व्रत का पारण कर व्रत को पूर्ण कर सकता है ऐसी मान्यता है कि संकष्टी चतुर्थी व्रत पर चंद्रमा दर्शन के बिना व्रत पूर्ण नहीं होता है इस दिन चंद्र दर्शन करके उनका पूजन करना लाभकारी होता है। 


Bhadrapada sankashti chaturthi vrat 2022 date muhurat and shubh yog 

Share this story