Samachar Nama
×

Zohra Sehgal Death Anniversary : जोहरा सहगल के इश्क के कारण बन गए थे दंगे जैसे हालात, जानिए एक्ट्रेस के हैरतंगेज किस्से 

Zohra Sehgal Death Anniversary : जोहरा सहगल के इश्क के कारण बन गए थे दंगे जैसे हालात, जानिए एक्ट्रेस के हैरतंगेज किस्से 

मनोरंजन न्यूज़ डेस्क -  भारतीय सिनेमा में एक ऐसी अभिनेत्री हुई जिसने बचपन से लेकर जीवन के आखिरी पड़ाव तक बगावत की। अपनी एक्टिंग के अलावा वो अपने बागी तेवर के लिए भी जानी जाती थीं। हम बात कर रहे हैं दिवंगत अभिनेत्री जोहरा सहगल की। ​​जोहरा सहगल ने कभी समाज के खिलाफ, कभी महिलाओं पर लगी बंदिशों के खिलाफ तो कभी धर्म के ठेकेदारों के खिलाफ बगावत की। वो जीवन भर कुरीतियों के खिलाफ लड़ती रहीं, यहां तक ​​कि जीवन के आखिरी पड़ाव में भी जोहरा ने अपना बागी तेवर बरकरार रखा। 6 जुलाई 2014 को जोहरा सहगल ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। जोहरा सहगल को फिल्मी दुनिया का गहना माना जाता था। आइए जानते हैं जोहरा सहगल की जिंदगी के कुछ अहम किस्से…

,
रामपुर की राजनीति से था नाता

जोहरा सहगल न सिर्फ एक बेहतरीन अदाकारा थीं, बल्कि वो एक जिंदादिल इंसान भी थीं। जोहरा सहगल ने 102 साल की उम्र तक अपने दिल को बच्चा बनाए रखा। वो जिंदगी के हर रंग को खुलकर जीना चाहती थीं। इस जिंदादिल अभिनेत्री का जन्म 27 अप्रैल 1912 को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में हुआ था। जोहरा का जन्म सहारनपुर के एक पठान परिवार में हुआ था। उनका परिवार रामपुर की राजनीति से जुड़ा था।

,
स्कूल में टॉपर थीं
जोहरा का पूरा नाम साहिबजादी जोहरा मुमताजुल्लाह खान बेगम था। जोहरा सहगल के कुल सात भाई-बहन थे। उन्होंने लाहौर के क्वीन मैरी कॉलेज से पढ़ाई की, जिसे आजादी से पहले देश का पहला अंतरराष्ट्रीय स्कूल माना जाता था। जोहरा अपने स्कूल में लगातार टॉपर रहीं। बाद में वे आगे की पढ़ाई के लिए यूरोप चली गईं। जोहरा उस समय पढ़ाई के लिए यूरोप गईं, जब लड़कियों को स्कूल भी नहीं भेजा जाता था।

,
कार से की दुनिया की यात्रा

जिस समय लोग लड़कियों को घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं देते थे, उस समय जोहरा ने कार से भारत और कई अन्य देशों की यात्रा की। जोहरा को शुरू से ही लड़कों की तरह रहना पसंद था। वह देश-विदेश घूमना चाहती थीं। अपने इसी जुनून के चलते उन्होंने कार से लगभग आधे भारत का भ्रमण किया और पश्चिम एशिया और यूरोप की भी यात्रा की। जोहरा इतनी विद्रोही थी कि जब उसे पता चला कि 10वीं पास करते ही उसकी शादी कर दी जाएगी तो वह जानबूझकर 10वीं में तीन बार फेल होती रही। जोहरा शुरू से ही स्कूल में टॉपर थी। उसका इस तरह फेल होना सभी को चौंका गया।

,
प्यार के कारण पैदा हुए दंगे जैसे हालात

ग्रेजुएशन के बाद जोहरा मशहूर डांसर उदय शंकर के ग्रुप में शामिल हो गईं और 1935 से 1940 तक उन्होंने उनके साथ जापान, मिस्र, यूरोप और अमेरिका में कई जगहों पर परफॉर्म किया। बाद में वह उदय शंकर ग्रुप की ट्रेनर बन गईं। इसी दौरान उनकी मुलाकात इंदौर के वैज्ञानिक, पेंटर और डांसर कामेश्वर सहगल से हुई। कामेश्वर उनसे आठ साल छोटे थे और धर्म से हिंदू थे। जब जोहरा और कामेश्वर के प्यार की कहानी लोगों तक पहुंची तो कहा जाता है कि दंगे जैसे हालात पैदा हो गए थे, लेकिन किसी की परवाह किए बिना जोहरा ने कामेश्वर को अपना जीवनसाथी चुन लिया।

Share this story

Tags