Samachar Nama
×

Shri ganganagar 15 नशामुक्ति केंद्रों पर छापा: 5 बिना डॉक्टर व स्टाफ के चल रहे थे, 10 बंद कर भागे
 

Shri ganganagar 15 नशामुक्ति केंद्रों पर छापा: 5 बिना डॉक्टर व स्टाफ के चल रहे थे, 10 बंद कर भागे

राजस्थान न्यूज डेस्क, नशे के कारोबार को लेकर पुलिस-प्रशासन की जीरो टॉलरेंस की नीति एक बार फिर सामने आ गई है। सादुलशहर में 11 अवैध नशामुक्ति केंद्रों पर ताला लगाने के बाद मंगलवार को कलेक्टर सायराभ स्वामी और एसपी आनंद शर्मा ने जिला मुख्यालय के नशामुक्ति केंद्रों की तलाशी ली. इन 15 नशामुक्ति केंद्रों पर चार टीमों ने करीब तीन घंटे में तलाशी अभियान चलाया।

इनमें से किसी के पास लाइसेंस नहीं मिला। पूर्व में भी बंद का नोटिस दिए जाने के बावजूद तीन नशामुक्ति केंद्र चालू हालत में पाए गए। इसके अलावा जो खुले थे उनमें से किसी में भी व्यवस्था ठीक नहीं पाई गई है।

कलेक्टर ने सभी को दूसरे दिन यानी शुक्रवार की शाम पांच बजे तक का समय उनके फर्जी संस्थानों पर ताला लगाकर बंद करने की चेतावनी के साथ दिया है. इसके बाद अगर कोई दौड़ता पाया गया तो प्रशासन भी मुकदमा दर्ज करवाएगा और संस्थान को भी बंद कर देगा।

14 दिसंबर को सादुलशहर के 11 नशेड़ियों की छह टीमों से जांच हुई, किसी के पास लाइसेंस नहीं :

इससे पहले कलेक्टर सायराभ स्वामी व एसपी आनंद शर्मा ने गुप्त योजना के तहत 14 दिसंबर की शाम सादुलशहर के 11 नशामुक्ति केंद्रों पर छापेमारी की थी. यहां छह टीमों के साथ इन केंद्रों का पुनर्निर्माण किया गया।

किसी भी केंद्र संचालक के पास वैध लाइसेंस नहीं था। किसी भी केंद्र में मैनरिग विशेषज्ञ नहीं थे, पर्याप्त स्टाफ, पर्याप्त जगह, सुविधाएं मिलीं। यहां कई केंद्रों पर गंदगी देखकर अधिकारी हैरान भी हुए और परेशान भी। इन सभी को दो दिन में बंद करने को कहा गया था। सब कुछ बंद है।
श्रीगंगानगर न्यूज डेस्क!!!
 

Share this story