Samachar Nama
×

Shimla हिमाचल के 16 निजी विश्वविद्यालयों में 40 फीसदी अयोग्य स्टाफ बदला गया

Shimla हिमाचल के 16 निजी विश्वविद्यालयों में 40 फीसदी अयोग्य स्टाफ बदला गया

हिमाचल प्रदेश न्यूज़ डेस्क, हिमाचल प्रदेश निजी शिक्षण संस्थान नियामक आयोग ने राज्य में चल रहे निजी विश्वविद्यालयों पर सख्त कार्रवाई शुरू कर दी है। आयोग की सख्ती के बाद 16 निजी विश्वविद्यालयों ने 40 फीसदी फैकल्टी को बदलकर नई नियुक्तियां की हैं। जिन शिक्षकों को हटाया गया है, वे विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार विश्वविद्यालय में पढ़ाने के लिए अपात्र थे। यूजीसी के 2009 और 2016 के नियमों को पूरा नहीं किया। इनमें से कई शिक्षक नेट पास नहीं थे और कुछ के पास पीएचडी की डिग्री नहीं थी। कई शिक्षकों ने शैक्षणिक योग्यता पूरी करने के लिए छूट ले रखी थी। इसका समय बीत चुका था, फिर भी इन शिक्षकों की योग्यता पूरी नहीं हुई।

निजी शिक्षण संस्थान नियामक आयोग ने इन विश्वविद्यालयों के खिलाफ जांच शुरू की थी। जांच में गड़बड़ी सामने आने के बाद उन्हें नोटिस जारी किया गया है। आयोग ने विश्वविद्यालय प्रशासन को इन्हें बदलने का निर्देश दिया था। आयोग ने उनसे अनुपालन रिपोर्ट मांगी थी। पूछा गया कि इन शिक्षकों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है। विश्वविद्यालयों ने अपने जवाब में कहा है कि उनकी जगह नई नियुक्तियां की गई हैं।

हिमाचल के 16 निजी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के खिलाफ फिर से जांच शुरू हो गई है। आयोग उनकी शैक्षणिक योग्यता की जांच करेगा। इससे पहले भी करीब 10 कुलपतियों को अयोग्य ठहराकर हटा दिया गया था। कुलपति की नियुक्ति को लेकर भी सुप्रीम कोर्ट ने कुछ निर्देश दिए हैं. इसके अनुसार आयोग नए सिरे से इसकी जांच कर रहा है। शैक्षणिक योग्यता, शैक्षणिक अनुभव, उम्र समेत अन्य नियम देखे जाएंगे।
शिमला न्यूज़ डेस्क!!!


 

Share this story