Samachar Nama
×

Shimla बड़सर विधायक से मिली आशा कार्यकर्ता स्थायी नीति बनाने की मांग, कहा- मानदेय मात्र 4500, ऊंट के मुंह में जीरा का सामान
 

Shimla बड़सर विधायक से मिली आशा कार्यकर्ता स्थायी नीति बनाने की मांग, कहा- मानदेय मात्र 4500, ऊंट के मुंह में जीरा का सामान

हिमाचल प्रदेश न्यूज़ डेस्क, हिमाचल प्रदेश में हमीरपुर की बरसर विधानसभा सीट से विधायक इंद्र दत्त लखनपाल से मिलने मंगलवार को आशा कार्यकर्ता पहुंचीं. उन्होंने अपनी मांगों से संबंधित पत्र विधायक को सौंपा। साथ ही आशा वर्करों के लिए स्थाई नीति बनाने की मांग की।

प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व सुषमा किरण और सुनीता कुमारी ने किया। उन्होंने बताया कि वर्तमान में आशा वर्कर केंद्र सरकार के प्रोजेक्ट के तहत काम कर रही हैं। उनके लिए ड्यूटी का कोई निश्चित समय नहीं होता है। उनसे 24 घंटे काम कराया जा रहा है। उन्होंने कोरोना काल में फ्रंटलाइन वर्कर के तौर पर भी काम किया है।

मानदेय बढ़ाने की मांग

उन्हें महज 4500 रुपए मानदेय के रूप में दिया जा रहा है, जो ऊंट के मुंह में जीरा जैसा है। उन्होंने मानदेय बढ़ाने की मांग की है। बता दें कि बड़सर विधानसभा क्षेत्र में इस समय 106 आशा कार्यकर्ता कार्यरत हैं. आशा वर्करों की मांगों को सुनने के बाद विधायक लखन पाल ने आश्वासन दिया कि उनकी मांगों को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा जाएगा.
शिमला न्यूज़ डेस्क!!!

Share this story