Samachar Nama
×

Sawai madhopur गैर इरादतन हत्या के 3 अभियुक्तों को हत्या की कोटि में न आने पर 3 वर्ष का साधारण कारावास

Sawai madhopur गैर इरादतन हत्या के 3 अभियुक्तों को हत्या की कोटि में न आने पर 3 वर्ष का साधारण कारावास

राजस्थान न्यूज डेस्क, जिला एवं सत्र न्यायालय के न्यायाधीश अतुल कुमार सक्सेना ने गैर इरादतन हत्या के प्रयास के मामले में तीनों आरोपियों को तीन-तीन साल के साधारण कारावास की सजा सुनाई। न्यायालय ने आरोपी कैलाश पुत्र जांशी मीणा, जयबाई पत्नी कैलाश मीणा व दिलखुश पुत्र कैलाश मीणा निवासी गंभीरा को धारा 308 व 308/34 भादस के तहत तीन-तीन वर्ष साधारण कारावास व धारा 325/3 वर्ष के तहत दो-दो हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई है. 34 भादस धारा 324/34 भादस में तीन वर्ष का साधारण कारावास व दो-दो हजार रुपये जुर्माना, धारा 324/34 भादस में दो हजार रुपये जुर्माना, धारा 323/34 भादस में पांच सौ रुपये व धारा 341 भादस में पांच सौ रुपये जुर्माना किया गया है. सजा सुनाई। आरोपियों की सभी सजाएं साथ-साथ चलेंगी। लोक अभियोजक जितेंद्र शर्मा ने बताया कि 24 नवंबर 2019 की शाम साढ़े छह बजे धनपाल व उसकी पत्नी मीना निवासी गंभीरा अपने खेत में गेहूं बोकर घर आ रहे थे.

तभी आरोपी कैलाश पुत्र जांशी, जयबाई पत्नी कैलाश, दिलसुख पुत्र कैलाश, विकास पुत्र कैलाश, रोसंता पुत्री कैलाश, प्रियंका पुत्री कैलाश निवासी गंभीरा ने घात लगाकर बैठ कर रास्ता रोक लिया और कुल्हाड़ी, लोहे की रॉड, डंडे से मीना को गालियां देने लगा. पीटना। सिर पर चोट लगने से महिला बेहोश हो गई। जब पीड़िता का बेटा हरिमोहन उसे बचाने आया तो आरोपी कैलाश और दिलखुश ने उस पर भी कुल्हाड़ी और सब्बल से हमला कर दिया, जिससे वह भी गंभीर रूप से घायल हो गया. मौके पर पहुंची पीड़िता की बहू मस्तानी ने बीच-बचाव कर घायल धनपाल व उसकी पत्नी को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया. घायल की रिपोर्ट पर कोतवाली थाना पुलिस ने नामजद आरोपितों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। जिला एवं सत्र न्यायालय ने मामले का निस्तारण करते हुए आरोपी को सजा सुनाई।
सवाई माधोपुर न्यूज डेस्क!!!
 

Share this story