Samachar Nama
×

Rohtas झारखंड पुलिस ने डेहरी से पांच को किया गिरफ्तार
 

Rohtas झारखंड पुलिस ने डेहरी से पांच को किया गिरफ्तार


बिहार न्यूज़ डेस्क नौकरी दिलाने के नामपर ठगी करने वाले को अपहरण करने वाले पांच अपहरणकर्ताओं को झारखण्ड के पलामू पुलिस ने नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले अपहरण का 24 घंटे के अंदर उद्द्भेदन कर दिया है. शहर के एक होटल से दोनों अपहृत को ना सिर्फ सकुशल बरामद किया, बल्कि अपरहण की घटना में शामिल पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने मंगलवार की देर शाम बताया कि 19 नवंबर की दोपहर दो बजे के करीब चैनपुर थाना के शाहपुर चौक से गढ़वा जिला के गड़ाखुर्द निवासी विमलेश कुमार दूबे व विवेक कुमार दूबे ( दोनों सगे भाई) का अपहरण कर लिया गया था. विमलेश के ससुर तलेया के ब्रजेश कुमार दूबे ने इसकी सूचना चैनपुर थाना को दी थी. सूचना के आलोक में छतरपुर एसडीपीओ अजय कुमार के नेतृत्व में टीम का गठन किया. टीम ने अपहरणकर्ताओं के धर-पकड़ की दिशा में कार्रवाई की.
इसी दौरान अपहरणकर्ताओं ने विमलेश के मोबाइल से उसके घर पर फोन कर 25 लाख फिरौती की मांग की. मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस ने के एक होटल में छापेमारी की. जहां से विमलेश कुमार दूबे व विवेक कुमार दूबे के साथ पांच अपहरणकर्ता को गिरफ्तार कर लिया. जिसमें जिले के बघैला थाना के छतौना विशम्भपुर के अमित कुमार, चेनारी थाना के पंडरी इब्राहिमपुर के राकेश कुमार व दीपक कुमार, भभुआ जिले के बेलांव थाना के खरुरा पसाई के संदीप कुमार और गया जिले के खिजरसराय थाना के रौनिया गांव के गगन कुमार शामिल हैं. उनके पास से विभिन्न कंपनी के आठ मोबाइल व सीम बरामद किया गया है.
एसपी ने बताया कि गढ़वा जिला के गड़ाखुर्द निवासी विमलेश कुमार दूबे पटना के गुड्डू के लिए युवाओं को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का धंधा करता है. इस कार्य में उसका भाई विवेक कुमार दूबे सहयोगी है. विमलेश गढ़वा जिले के रंका में फर्जी प्रशिक्षण केंद्र चलाता है, जहां गुड्डू के द्वारा भेजे गए युवाओं को फॉरेस्ट गार्ड का फर्जी ट्रेनिंग कराता है. फॉरेस्ट गार्ड की बहाली के नाम पर 3-3 लाख रुपया लिया जाता है. जब ट्रेनिंग करने राकेश कुमार, दीपक कुमार, संदीप कुमार, गगन कुमार गढ़वा के रंका पहुंचे तो उनको एक-दो दिन में समझ में आ गया कि उनको ठगा गया है.
जिसपर उसने अपने मित्र अमित को इसकी सूचना दी. अमित कुमार रोहतास से गढ़वा पहुंचे, जहां से पांचों एक गाड़ी से शाहपुर पहुंचे, जहां पहले से मौजूद विमलेश कुमार दूबे व विवेक कुमार दूबे से अपने राशि की मांग की. इस पर उनका दोनों से विवाद हो गया. जिस पर पांचों ने उनका अपहरण कर लिया और डेहरी ले जाकर एक होटल में रखा. जहां से विमलेश के मोबाइल से उसके घर फोन करने से वे ट्रैप हो गए और पुलिस के गिरफ्त में आ गए. उन्होंने कहा कि ठगी के शिकार युवकों (अपहरण में गिरफ्तार) के शिकायत करने पर पुलिस दोनों ठगों पर भी कार्रवाई करेगी.

रोहतास न्यूज़ डेस्क
 

Share this story