Samachar Nama
×

Ranchi योगदान के बाद तबादला आदेश रद्द नहीं किया जा सकता हाईकोर्ट
 

Ranchi योगदान के बाद तबादला आदेश रद्द नहीं किया जा सकता हाईकोर्ट


झारखण्ड न्यूज़ डेस्क, तबादला आदेश जारी होने पर योगदान देने के बाद आदेश वापस नहीं लिया जा सकता. झारखंड हाईकोर्ट ने  एक मामले की सुनवाई करते हुए अपने आदेश में यह बात कही. इसके साथ ही सरकार ने शिक्षा विभाग के उस आदेश को रद्द कर दिया, जिसमें योगदान देने के बाद तबादला आदेश को निरस्त किया गया था. सत्येंद्र कुमार, राजश्री भगत व सुजीत रजक समेत आठ याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस आनंद सेन की अदालत ने यह निर्देश दिया.
सुनवाई में अदालत ने स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता सचिव के उस आदेश को खारिज कर दिया, जिसके तहत उन्होंने ट्रांसफर आदेश को रद्द किया था. अदालत ने माना कि जब एक बार तबादले का आदेश जारी हुआ और उसका अनुपालन कर दिया गया तो उसे वापस नहीं लिया जा सकता है. इसलिए सचिव का आदेश बिल्कुल गलत है.

प्रार्थियों की ओर से अधिवक्ता नेहा भारद्वाज ने अदालत को बताया कि सभी शिक्षक लोहरदगा जिले के विभिन्न स्कूलों में कार्यरत थे. 2021 में उनका ट्रांसफर दूसरे स्कूलों में कर दिया गया. सभी ने स्थानांतरित स्कूल में योगदान भी दे दिया. कुछ दिनों बाद स्कूली एवं साक्षरता विभाग के सचिव ने इसे अवैध बताते हुए ट्रांसफर आदेश को रद्द कर दिया.
इस पर अदालत ने सचिव के आदेश को निरस्त करते हुए सभी प्रार्थियों को राहत प्रदान की है. अब सभी अपने ट्रांसफर वाले स्कूलों में काम कर सकेंगे.

राँची न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story