Samachar Nama
×

Raipur नाबालिग समेत पांच गिरफ्तार, खरीदने वालों को भी पकड़ा,सीसीटीवी ने खोला 4 सूने मकानों से 8 लाख के जेवर चोरी का राज
 

Raipur नाबालिग समेत पांच गिरफ्तार, खरीदने वालों को भी पकड़ा,सीसीटीवी ने खोला 4 सूने मकानों से 8 लाख के जेवर चोरी का राज

छत्तीसगढ़ न्यूज़ डेस्क,  पुलिस उम्मीद कर रही है कि इसी तरह से सीसीटीवी फुटेज के सहारे और मामले का खुलासा किया जाएगा. पहले आरोपी सुपेला इंद्रा नगर निवासी शाहिल खान, तुकेश्वर ठाकुर व एक नाबालिग को पकड़ा गया. शुरूआती पूछताछ करने पर आरोपी पुलिस को गुमराह करते रहे. सघन पूछताछ करने पर घटना के संबंध में अपने दोस्त गुलाम खान व महेश यादव के साथ पांचों ने मिलकर सुपेला, वैशाली नगर, स्मृति नगर क्षेत्र के 4 सूने मकानों में अलग-अलग समय पर रेकी करके नकबजनी की घटना को अंजाम करना स्वीकार किए.
यहां बेचा चोरी का सामान - पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ करने पर प्रकरण में चोरी गई मशरुका को बाजार अतरीया खैरागढ़ निवासी धर्मेंद्र वर्मा के माध्यम से सालेखुर्द धमधा निवासी गैंदराम जंघेल को बेचना स्वीकार किया. जिससे आरोपियों के बताए अनुसार धर्मेंद्र वर्मा व गैंदराम जंघेल को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर धर्मेंद्र वर्मा ने आरोपियो के लाए गए सोने-चांदी के जेवरातों को अपने रिश्तेदार ज्वेलरी शॉप में काम करने वाले गैंदराम जंघेल के पहचाने वाले सोना गलाई का काम करने वाले मानस जेना के पास बिकवाना बताया. जिससे मानस जेना के कब्जे से सोने-चांदी के जेवरात बरामद किया गया. साथ ही कुछ जेवरात आरोपियों ने छिपाकर रखे गए स्थानों से उनकी निशानदेही पर बरामद कर जब्त किया.
लगातार चोरी होने पर एसपी ने बनाई टीम

जिले मेें लगातार घटित हो रही नकबजनी की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए एसीसीयू प्रभारी निरीक्षक संतोष मिश्रा व थाना प्रभारी सुपेला निरीक्षक डी शर्मा, थाना प्रभारी वैशाली नगर निरीक्षक त्रिनाथ त्रिपाठी, स्मृति नगर, चौकी प्रभारी उप निरीक्षक युवराज देशमुख के नेतृत्व में संयुक्त टीम गठित की गई. टीम ने संदेहियों पर नजर रखी हुई थी.
जेल से छूटे अपराधियों से लेकर आदतन अपराधियों पर नजर
संयुक्त टीम आदतन अपराधियों व जेल से रिहा हुए अपराधियों से पूछताछ कर पतासाजी के प्रयास कर रही थी. मुखबिरी भी लगाए गए. दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों का अवलोकन किए. जिसमें 3 संदेहियों के फुटेज मिले. जिसके आधार पर सोशल मीडिया के माध्यम से अलग-अलग व्हाट्सप ग्रुप में पतासाजी के लिए फुटेज वायरल किए थे. जिसके परिणाम स्वरूप खास सूत्रों के माध्यम से आरोपियों की पहचान सुपेला इंद्रा नगर निवासी शाहिल खान, तुकेश्वर ठाकुर व एक नाबालिग लड़के के रूप में तय हुई. टीम ने आरोपियों की सतत् निगरानी करते हुए सुपेला क्षेत्र में उनकी उपस्थिति के आधार पर घेराबंदी कर तीनों को पकड़ा. गठित की गई टीम में सहायक उप निरीक्षक पूर्ण बहादुर, चंद्रशेखर सोनी, प्रधान आरक्षक रोमन लाल सोनवानी ने अहम भूमिका निभाई. चंद्रशेखर बंजीर, अनुप शर्मा, पन्ने लाल, जुगनु सिंह, वि₹ांत कुमार, अश्विनी यदु, सहायक उप निरीक्षक राजेश सिंह, थाना वैशाली नगर से उप निरीक्षक कमला यादव, सहायक उप निरीक्षक कैशेंद्र सिंह, प्रधान आरक्षक तुलसीराम, चौकी स्मृति नगर से उप निरीक्षक बीएल चंद्राकर आरक्षक संजीव ओझा, जयनारायण यादव की भूमिका रही.
 

रायपुर न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story