Samachar Nama
×

Raipur मुख्यमंत्री बोले- केंद्र सरकार धान से एथेनॉल बनाने दे तो मैं पूरा धान खरीद लूंगा मुआवजा नहीं मिलने की शिकायत
 

Raipur मुख्यमंत्री बोले- केंद्र सरकार धान से एथेनॉल बनाने दे तो मैं पूरा धान खरीद लूंगा मुआवजा नहीं मिलने की शिकायत

छत्तीसगढ़ न्यूज़ डेस्क, धरसींवा विधानसभा क्षेत्र का ग्राम चरोदा.  दोपहर 3 बजे हैं. इंतजार है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का. सीएम भेंट-मुलाकात के लिए आ रहे हैं. किसान, महिलाएं और आत्मानंद स्कूल के बच्चे... सब मौजूद हैं. इंतजार बढ़ रहा है. धीरे-धीरे शाम होने लगी, लेकिन लोग परेशान नहीं. सीएम पहुंचे तो सबसे पहले देरी से आने के लिए माफी मांगी और अगले ही पल हंसी-मजाक शुरू. सीएम ने कहा, मैं अपनी ससुराल आया हूं. सब कका कह रहे हैं. कोई फूफा नहीं कह रहा है. इस पर तालियों से पता चल गया कि घंटों का इंतजार पल भर में छू-मंतर हो गया है. फिर कका की जगह भाटो संबोधन भी सुनाई देने लगा.

प्रदेश भर के 63 विधानसभा क्षेत्रों में भेंट-मुलाकात के बाद भूपेश बघेल के लिए पब्लिक कनेक्ट बनाना मानों बाएं हाथ का खेल हो चुका है. चरोदा में मंच से शुरुआती 2-3 मिनट में ही माहौल को हल्का करने के तुरंत बाद जनता में माइक घुमवा दिया. जिसे माइक मिला उससे कर्ममाफी, धान की किस्त, पैसों का क्या किया... जैसे सवाल पूछे. सवाल-जवाब के इसी दौर के बीच राजनीतिक विरोधियों पर निशाना भी साधते रहे. हंसी-हंसी में ही एक बड़ा संदेश भी देते चलते हैं कि हम यानी छत्तीसगढ़ सरकार तो जेब में पैसा डाल रही है और वे यानी केंद्र सरकार जेब से पैसा खींच रही है.
इस दौरान गांव के किसान रामेश्वर प्रसाद वर्मा ने कहा, तीन बार धोखा देकर भाजपा की सरकार बनी. आपकी सरकार बनने के बाद जनता और किसान खुश हैं. अब आप से आग्रह है कि धान खरीदी की लिमिट प्रति एकड़ 20 क्विंटल की जाए. इस पर मुख्यमंत्री ने कहा, मैं खरीफ के साथ-साथ रबी का भी धान खरीदना चाहता हूं. इसके लिए मैं भारत सरकार को 4 साल से लेटर लिख रहा हूं, धान से एथेनॉल बनाने का अनुमति दें. इसके लिए हमने 12 उद्योगपतियों से एमओयू भी किया है. जमीन भी देख लीहै. कवर्धा में गन्ना से एथेनॉल बन रहा है. कोंडागांव में मक्का से एथेनॉल बनाने का शुरुआत जून तक हो जाएगी. धान से एथेनॉल बनाना शुरू हो गया तो किसान अपना धान 2000 रुपए में बेचेंगे. हम खुद किसानों का एक-एक दाना धान खरीदेंगे.
चरोदा में प्रमुख घोषणाएं
सिलयारी को मिलेगा नगर पंचायत का दर्जा.
ग्राम पंचायत सारागांव में बनेगी उप तहसील.
ग्राम पंडरभट्ठा, कचना और तेन्दुआ में बनेगा मिनी स्टेडियम.
धरसींवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपलब्ध होगी डिजिटल एक्सरे मशीन.
भेंट मुलाकात के दौरान कुमार वर्मा ने बताया कि मुआवजा प्रकरण बनाने के बाद भी उन्हें 10 साल बाद मुआवजा नहीं मिला है. दरअसल, वर्मा चार गुना मुआवजा की बात कर रहे थे. इस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें संतुष्ट करने के लिए पूरे नियमों की जानकारी दी और कहा, मनमोहन सिंह के सरकार ने चार गुना मुआवजा का प्रावधान किया था. बाद में मोदी सरकार ने इसे वापस ले लिया और राज्यों पर छोड़ दिया. हमनें 2019 में चार गुना मुआवजा देने का फैसला लिया. यह व्यवस्था आपके मामले में लागू नहीं होगी, क्योंकि प्रकरण पहले का है, इसलिए जो मुआवजा बना है, उसे ले लें. किसान कन्हैया लाल साहू ने बताया कि उन्हें राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना की एक किश्त मिल गई है, बाकी नहीं मिल पाई है. मुख्यमंत्री ने इनकी शिकायत पर कलेक्टर को जांच के निर्देश दिए.

रायपुर न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story