Samachar Nama
×

Raipur राज्यपाल से रोस्टर नियम का पालन किए बिना पदोन्नति देने की शिकायत, प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज एवं गवर्नमेंट एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापन
 

Raipur राज्यपाल से रोस्टर नियम का पालन किए बिना पदोन्नति देने की शिकायत, प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज एवं गवर्नमेंट एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़ न्यूज़ डेस्क, राज्यपाल अनुसुईया उइके से राजभवन में प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज एवं गवर्नमेंट एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन के संयुक्त प्रतिनिधिमण्डल ने सौजन्य मुलाकात की. इस दौरान प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने राज्यपाल से कहा, राज्य सरकार कई विभागों में बिना रोस्टर नियम का पालन किए, पदोन्नति देने का कार्य कर रही है. उन्होंने कहा कि आरक्षण नियम का पालन नहीं करने से अनुसूचित जनजाति एवं अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के हित प्रभावित हो रहे हैं.

प्रतिनिधियों ने राज्यपाल से आग्रह किया कि वे राज्य शासन को निर्देशित करें कि संवैधानिक प्रावधान एवं जनसंख्या के आधार पर हमें 16 प्रतिशत आरक्षण और अनुसूचित जनजाति को 32 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करें. सभी जातियों के हितों को देखते हुए आरक्षण विधेयक लाने के लिए निर्देशित करें. प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज के प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने राज्यपाल उइके से कहा कि आरक्षण के अभाव में छत्तीसगढ़ के विभिन्न समुदायों को उनके आरक्षण का लाभ नहीं मिल पा रहा है. उन्होंने राज्यपाल से कहा कि संविधान में अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए जनसंख्या को आधार बनाने का कोई संवैधानिक प्रावधान नहीं है. साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 10 प्रतिशत के आरक्षण के नियमों को भी सरकार अनदेखा कर रही है. इस संबंध में राज्यपाल ने प्रतिनिधियों से कहा कि वे इस आशय से विधि सम्मत प्रयास करेंगी. इस अवसर पर कृष्ण कुमार नवरंग, मोहन बंजारे, दिनेश बंजारे, विजय कुर्रे, प्रदीप श्रृंगी, दिनेश लहरे, मनीष रात्रे, राधेश्याम टण्डन, सुरेश दिवाकर, भोलाराम मरकाम, दिनेश घोसले सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे.

रायपुर न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story