Samachar Nama
×

Raipur आउटर में बांस-बल्लियों के सहारे कॉलोनियां रोशन, कई कॉलोनियां वैध नहीं, इसलिए विद्युत कनेक्शन नहीं
 

Raipur आउटर में बांस-बल्लियों के सहारे कॉलोनियां रोशन, कई कॉलोनियां वैध नहीं, इसलिए विद्युत कनेक्शन नहीं

छत्तीसगढ़ न्यूज़ डेस्क, राजधानी में शहर के आउटर में बल्लियों के सहारे कॉलोनियां रोशन हो रही हैं. शहर की कई कॉलोनियां वैध नहीं हैं, इसलिए यहां पर विद्युत कनेक्शन नहीं है. बिजली कंपनी ने यहां कई स्थानीय रहवासियों को अस्थाई कनेक्शन दे रखे हैं. इन कनेक्शन को बिना बिजली पोल के नागरिक बल्लियों के सहारे से अपने घरों तक लेकर गए हैं. कई स्थानों पर तारें नीचे तक झूल रही हैं. इससे कभी भी कोई भी बड़ी अनहोनी का खतरा बना हुआ है. इसके बाद भी प्रशासन इसकी सुध नहीं ले रहा है.
बारिश व आंधी में खतरा ज्यादा

बिजली कंपनी द्वारा बिजली कनेक्शन तो दिए जा रहे हैं, लेकिन ये कनेक्शन बिजली के खंभों की बजाय बांस की लकड़ियों पर टिके हुए हैं. मार्ग पर बल्लियां लगाकर तार घरों तक पहुंचाया गया है. कई बार बारिश व आंधी से इन बल्लियों के गिरने का खतरा भी बना रहता है.
शहर की कई ऐसी अवैध कॉलोनियों हैं जहां मकानों का निर्माण लगातार हो रहा है, लेकिन बिजली कनेक्शन के लिए रहवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. रायपुर के आउटर में जगह-जगह कॉलोनियां बन रही है. शहर के सेजबहार, कांदुल, बोरिया, अमलेश्वर, रावतपुरा इन जगहों पर तेजी से घर बन रहे हैं. यहां बल्ली और बांस के सहारे बिजली के तार लोग घर तक लो जा रहे हैं.
राहगीरों के लिए भी मुसीबत बन रहे तार
कई जगह तार ऊपर रहते हैं, लेकिन अधिकतर जगहों पर तार नीचे लटके दिखाई देते हैं. सड़क के किनारे से गुजरे इन कनेक्शन के कारण राहगीरों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं. जमीन कब्जा कर मकान बनाने वाले भी बिजली कनेक्शन के लिए जमकर लापरवाही बरत रहे हैं. अवैध ढंग से बिजली के खंभे से तार जोड़कर लकड़ी का सहारा लेकर रहवासी घरों को रोशन कर रहे हैं.
बांस के साथ कई लोहे के भी खंभे, बच्चों को भी खतरा
बांस के साथ ही यहां लोहे के भी खंभों में लटकाकर तार घरों तक गए हैं. इनके आसपास के बच्चे भी खेलते नजर आते हैं. इससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है, लेकिन जिम्मेदार इसकी ओर ध्यान नहीं देते.

रायपुर न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story