Samachar Nama
×

Pratapgarh पोस्टमार्टम क्यों नहीं कराया पूछकर चले गए, अधूरे शौचालय के कारण दो वर्ष के मासूम की हो गई थी मौत
 

Pratapgarh पोस्टमार्टम क्यों नहीं कराया पूछकर चले गए, अधूरे शौचालय के कारण दो वर्ष के मासूम की हो गई थी मौत


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  शौचालय के खुले टैंक में गिरकर  दो वर्ष के मासूम की जान चली गई. लालगंज तहसीलदार धीरेंद्र कुमार ने मौके पर पहुंचकर परिजनों से पूछा कि पोस्टमार्टम क्यों नहीं कराया.

महेशगंज थाना क्षेत्र के पुरमई सुल्तानपुर गांव निवासी ओम प्रकाश उर्फ रिन्कू के तीन बच्चे हैं. सबसे बड़ा प्रांशू (6), बेटी जांहन्वी (4), रानू (2) हैं. ओम प्रकाश की आर्थिक स्थित ठीक न होने की वजह से सहारनपुर के ईंट भत्रे पर गया था. पत्नी मनीषा घर पर बच्चों के साथ रहती है.  की शाम ओम प्रकाश का छोटा बेटा रानू उर्फ शालू (2) खेलते समय शौचालय के खुले टैंक में गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गई. सहारनपुर से लौटे ओम प्रकाश ने  बेटे का अंतिम संस्कार गांव के बाहर तालाब किनारे कर दिया.
2017 में बना था शौचालय, भरी है लकड़ी 2017 में बने शौचालय में लकड़ी भरी हुई है, शौचालय के टैंक में ढक्कन नहीं लगा है. बताते हैं कि 2017 में शौचालय का निर्माण ग्राम पंचायत अधिकारी एवं ब्लाक के अधिकारियों ने ठेकेदारों से कराया था. ठेकेदार आधे अधूरे शौचालय छोड़कर चले गए.
शव रख घंटों अफसरों का किया इंतजार
पुरमई सुल्तानपुर गांव निवासी ओम प्रकाश के दो वर्षीय बेटे रानू उर्फ शालू की मौत हुई तो वह  उसका अंतिम संस्कार करने जा रहा था. इस बीच वह गांव के बाहर पुल पर आधे घंटे तक बेटे का शव रखे इंतजार करता रहा कि शायद कोई अधिकारी उसकी पीड़ा सुनने आए. बाद में उसने बेटे का अंतिम संस्कार तालाब किनारे गड्ढा खोदकर कर दिया.


प्रतापगढ़ न्यूज़ डेस्क

Share this story