Samachar Nama
×

Nainital डॉ. जेएस भंडारी आईएमए हल्द्वानी के फिर अध्यक्ष, संजय महासचिव
 

Nainital डॉ. जेएस भंडारी आईएमए हल्द्वानी के फिर अध्यक्ष, संजय महासचिव


उत्तराखंड न्यूज़ डेस्क, आईएमए हल्द्वानी की कार्यकारिणी का गठन कर लिया गया है. डॉक्टरों ने पिछले वर्ष मनोनीत किए गए पदाधिकारियों पर ही भरोसा जताते हुए उन्हें एक वर्ष के लिए फिर से जिम्मेदारी सौंपी है.
 कार्यकारिणी गठन की प्रक्रिया में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों के डॉक्टर शामिल रहे. सभी ने एकमत होकर पिछले वर्ष की कार्यकारिणी पर भरोसा जताया. इस बार भी सर्वसम्मति से डॉ. जेएस भंडारी को अध्यक्ष पद की कमान सौंपी गई.
इसके अलावा डॉ. संजय सिंह को महासचिव और डॉ. धीरेंद्र बनकोटी को एसोसिएशन उपाध्यक्ष के पद पर फिर से मनोनीत किया गया. इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि बीते वर्ष की कार्यकारिणी ने डॉक्टरों के हितों के लिए कार्य किए हैं. उन्हें उम्मीद है कि आगे भी कार्यकारिणी डॉक्टरों की समस्याओं को मजबूती से उठाएगी. अध्यक्ष डॉ. जेएस भंडारी ने कहा कि वह शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के डॉक्टरों को साथ लेकर कार्य कर रहे हैं. सभी पदाधिकारियों को फूल मालाओं के साथ सम्मानित किया गया.
छोटे अस्पतालों को सीईए एक्ट से बाहर रखा जाए आईएमए
 

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने छोटे अस्पतालों को क्लीनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट (सीईए) के दायरे से बाहर रखने की मांग की है. इसके लिए उन्होंने सीएम पुष्कर सिंह धामी को ज्ञापन सौंपा. संगठन का कहना है कि यह ऐक्ट गरीब जनता के हित में नहीं है.  सीएम से मिलने पहुंचे आईएमए के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. जेएस खुराना ने कहा कि 2010 में यह ऐक्ट बिना विचार किए ही लागू कर दिया गया. जबकि केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को भौगोलिक आधार पर ऐक्ट लागू करने की छूट दी थी.
2015 से कर रहे विरोध
2015 से लगातार इसका विरोध कर रहे हैं. उन्होंने सीएम से जल्द कानून को निरस्त कर प्रदेश की परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए नया कानून लागू करने की मांग की. उन्होंने कहा कि ऐक्ट की जटिलता के चलते कई राज्यों ने 50 बेड से नीचे के अस्पतालों व क्लीनिकों को इसके दायरे से बाहर रखा है. अध्यक्ष डॉ. जेएस भंडारी, महासचिव डॉ. संजय सिंह, डॉ. मधु, डॉ. गोविंद आदि मौजूद रहे.

नैनीताल न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story