Samachar Nama
×

Muzaffarpur बैट्री वाहनों का अधिक किराया लिया जा रहा
 

Muzaffarpur बैट्री वाहनों का अधिक किराया लिया जा रहा


बिहार न्यूज़ डेस्क जू में बैट्रीचालित वाहन का दर्शकों से अधिक किराया वसूला जा रहा है. बैट्री वाली गाड़ी से जू की सैर के लिए 40 और 55 रुपये का टिकट निर्धारित है, लेकिन वाहन संचालक 40 रुपये वाला टिकट किसी को दे ही नहीं रहा है. केवल 55 रुपये का टिकट छपवाकर बेचा जा रहा है. वाहन रिजर्व के मामले में भी यही खेल चल रहा है. पूरा वाहन रिजर्व करवाने पर 300 से 500 और 400 से 650 रुपया शुल्क निर्धारित है. लेकिन सिर्फ 650 रुपये में ही बुकिंग की जा रही है.

जू में बैट्रीवाली वाहन के संचालन का जिम्मा अक्टूबर में नई कंपनी को दिया गया है. टेंडर में जो नियम और शर्तें हैं उसकी वाहन संचालक अनदेखी कर रहा है. जू में बैट्रीचालित वाहन संचालन के लिए रूट के आधार पर किराया तय है. दो रूट पर किराया अलग-अलग है. जंतु प्रक्षेत्र का किराया प्रति व्यस्क 40 रुपये और प्रति शिशु 20 रुपये है. रीजर्व में छह सीटर बैट्रीचालित गाड़ी का 300 और दस से 12 सीटर गाड़ी का 500 रुपये है. जंतु एवं वनस्पति प्रक्षेत्र का किराया प्रति व्यस्क 55 रुपये और शिशु का 30 रुपये है. रीजर्व में छह सीटर का 400 और दस से 12 सीटर का 650 रुपये किराया है. बैट्रीचालित संचालक ने टिकट काउंटर पर सिर्फ 55 रुपये और रीजर्व में 650 रुपये का टिकट रखा है. 40 रुपये और रीजर्व में 300, 500 रुपये का टिकट नहीं रखा है और न ही इसकी दर काउंटर पर प्रदर्शित की है.
नियमानुसार दोनों प्रवेश गेट के निकट तथा बुकिंग काउंटर पर किराये की प्रदर्शित करनी है. टिकट काउंटर के निकट यात्रियों के लिए ईको फ्रेंडली बांस से निर्मित प्रतीक्षालय का निर्माण करना है, लेकिन यह भी नहीं किया गया है.
बैट्रीचलित वाहन के संचालन में नियमों का पालन करना होगा. दर्शकों के लिए दो शुल्क निर्धारित हैं. 40 रुपये और 55 रुपये के टिकट हैं. दर्शकों को यह जानकारी मिलना आवश्यक है. यदि एक ही टिकट की बिक्री की जा रही तो बैट्रीचालित वाहन संचालक से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा. नियमों का पालन नहीं होने पर निविदा भी रद्द की जा सकती है. -सत्यजीत कुमार, निदेशक जू.


मुजफ्फरपुर न्यूज़ डेस्क 
 

Share this story