Samachar Nama
×

Muzaffarpur भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों में तेज होगी कार्रवाई, निगरानी विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद की अध्यक्षता में हुई बैठक
 

Muzaffarpur भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों में तेज होगी कार्रवाई, निगरानी विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद की अध्यक्षता में हुई बैठक


बिहार न्यूज़ डेस्क राज्य सरकार द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ जारी कार्रवाई को और तेज किया जाएगा. खासकर भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों में लंबित विभागीय कार्यवाही या अभियोजन स्वीकृति से जुड़े मामलों में जरूरी निर्णय तुरंत लिए जाएंगे.  निगरानी विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद की अध्यक्षता में हुई प्रशासी विभागों के मुख्य निगरानी पदाधिकारियों की बैठक में इस बाबत कई अहम दिशा-निर्देश दिए गए.
अपर मुख्य सचिव ने घूस लेते रंगे हाथ पकड़े जाने, आय से अधिक संपत्ति के कांडों या पद के दुरुपयोग से जुड़े मामलों में लंबित विभागीय कार्यवाही के लिए जरूरी कागजात और गवाहों को उपस्थित करने के मामलों में तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए. निगरानी अन्वेषण ब्यूरो और विशेष निगरानी इकाई

को उन्होंने कहा कि विभागीय कार्यवाही में जिन कागजात की जरूरत हो, उसे तत्काल संचालन पदाधिकारी को उपलब्ध कराएं. वहीं गवाहों को भी समय पर उपस्थित किया जाए. निगरानी से जुड़े मामलों के खिलाफ लंबित अभियोजन स्वीकृति की उन्होंने विभागवार समीक्षा की. इस दौरान नियमानुसार कार्रवाई करते हुए अभियोजन स्वीकृति के संबंध में लिए गए निर्णय से जांच एजेंसियों को अवगत कराने का अनुरोध किया गया.
अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद ने भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए विभागों के साथ निगम, बोर्ड और स्वशासी निकायों में नियुक्ति मुख्य निगरानी पदाधिकारी के कोषांग गठन को लेकर चर्चा की. उन्होंने जहां अबतक इसका गठन नहीं हुआ, वहां जल्द कार्रवाई करने का अनुरोध किया. साथ ही इसकी सूचना विभाग को उपलब्ध कराने को कहा.
जांच रिपोर्ट की समीक्षा करने का अनुरोध
अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद ने निगरानी द्वारा विभागों को जांच के लिए सौंपे गए मामलों पर भी चर्चा की और जहां से अबतक रिपोर्ट नहीं दी गई है, उन्हें तुरंत जांच रिपोर्ट की समीक्षा कर उसे उपलब्ध कराने का अनुरोध किया. बैठक में एडीजी निगरानी अन्वेषण ब्यूरों सुनील कुमार झा, एडीजी विशेष निगरानी इकाई नैयर हसनैन खान, एडीजी मुख्यालय जेएस गंगवार, अभियंता प्रमुख, तकनीकी कोषांग राजकुमार लाल और ओएसडी अरुण कुमार ठाकुर उपस्थित थे.


मुजफ्फरपुर न्यूज़ डेस्क 
 

Share this story