Samachar Nama
×

Munger मुआवजे को ले किसान आक्रोशित
 

Munger मुआवजे को ले किसान आक्रोशित


बिहार न्यूज़ डेस्क मुंगेर-मिर्जाचौकी फोर लेन के निर्माण के लिए नौवागढ़ी एवं उससे सटे 8 मौजों में अधिग्रहित भूमि का उचित मुआवजा मिलने में अत्यधिक देरी को लेकर  प्रभावित किसानों द्वारा नौवागढ़ी काली स्थान के समीप कांतापुर गार्डन में बैठक की गयी. बैठक में किसानों ने सर्वसम्मति से एक बार फिर सड़कों पर शक्ति प्रदर्शन करने का प्रस्ताव पारित किया.

बैठक की अध्यक्षता कर रहे किसान आपत संयोजन संघर्ष समिति के अध्यक्ष संजय केशरी ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि अभी तक उचित मुआवजा नहीं मिलने से किसानों का गुस्सा चरम पर है. जल्द मुआवजा नहीं मिला तो यह स्थिति कभी भी विस्फोटक हो सकती है। उन्होंने कहा कि अगर किसानों को दोबारा सड़कों पर उतरने को मजबूर किया गया तो इसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी. किसानों की जमीन का उचित मुआवजा दिलाने के लिए मध्यस्थता के तौर पर मंडलायुक्त द्वारा गठित 6 सदस्यीय समिति का डेढ़ माह बाद भी अस्तित्व में नहीं आना किसानों के साथ मजाक और छलावा है. वहीं समिति के सचिव विश्वजीत मल्ला और कोषाध्यक्ष डब्ल्यू मालाकार ने कहा कि, प्रशासन हम किसानों को दोयम दर्जे का नागरिक मानता है. किसानों के नाम पर राजनीति तो खूब होती है, लेकिन किसानों के हित में एक भी ठोस कदम नहीं उठाया जाता।

बैठक में पवन कुमार सिंह, राम बहादुर चौधरी, मो जियाउद्दीन, मो जुल्फिकार, रामानंद सिंह, सौरभ सुमन, रंजीत मंडल, सीताराम यादव, उदय पाल, नरेश प्रसाद, अभिराम चौधरी, सुनील कुमार गुप्ता, रामानंद शास्त्री, जुगल किशोर पंडित, अंजनी कुमार सिंह और घनश्याम कुमार प्रमुख रूप से उपस्थित थे।
मुंगेर न्यूज़ डेस्क
 

Share this story