Samachar Nama
×

Meerut  घर पर आते ही कर ली वारदात की प्लानिंग, एक माह से खराब पड़ा है सीसीटीवी कैमरा 
 

Meerut  घर पर आते ही कर ली वारदात की प्लानिंग, एक माह से खराब पड़ा है सीसीटीवी कैमरा 


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  नेपाली नौकर वीरू उर्फ बहादुर ने घर पर आते ही वारदात की प्लानिंग कर ली थी. वीरू ने अपने दो-तीन साथियों को बुलाकर घर साफ कर दिया. घर के 10 साल पुराने नौकर के खाने में बेहोशी की दवा मिला दी. इसके बाद नकदी-जेवरात लेकर आरोपी फरार हो गए. सीसीटीवी फुटेज तलाशी जा रही हैं. हिरासत में लिए गए नौकरों और गार्ड से पूछताछ की जा रही है.

पूर्व पार्षद, बिल्डर और ट्रांसपोर्टनगर एसोसिएशन अध्यक्ष प्रदीप गुप्ता के घर में  बेटी की सगाई समारोह था. सभी लोग दिल्ली जा रहे थे. प्रदीप ने अपने ऑफिस पर काम करने के लिए पांच दिन पहले गुरुनानकनगर निवासी अमन सिद्दू के माध्यम से वीरू को रखा था. घर की सुरक्षा के लिए 10 साल पुराने सिक्योरिटी गार्ड-नौकर मनोज को जिम्मेदारी दी थी. ऑफिस से वीरू उर्फ बहादुर को भी घर भेज दिया.
वीरू ने घर पर आते ही अपने साथियों के साथ घर में वारदात की प्लानिंग कर ली. वीरू ने दोपहर करीब 2.30 बजे खाना बनाया और मनोज को खिलाया था. इसके बाद मनोज बेहोश हो गया. वीरू ने इसके बाद अपने दो-तीन साथियों को बुलाया और कोठी में ऊपर वाले कमरे के दरवाजे का लॉक रॉड से तोड़ दिया. अंदर पहुंचने के बाद आरोपियों ने लोहे की बड़ी तिजोरी और लॉकर तोड़कर वहां से नकदी और जेवरात चोरी कर लिए. इसके बाद आरोपी फरार हो गए.
पुलिस ने प्रदीप गुप्ता के घर पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की.
पता चला कि मुख्य गेट का कैमरा एक माह से खराब है. कॉलोनी में कुछ अन्य कैमरों की जांच की गई, जिसमें वीरू को पहचाना गया है. कुछ अन्य संदिग्ध भी दिखाई दिए हैं. इन सभी की तलाश की जा रही है.
ऐसे की वारदात
वीरू को जैसे ही घर खाली मिला तो उसने अपने साथियों को सूचना दी. सिक्योरिटी में लगे मनोज को बेहोश कर दिया और वीरू के साथी लॉकर व तिजोरी तोड़ने के औजार लेकर कोठी पर पहुंच गए. लॉकर व तिजोरी तोड़ सारा माल समेट लिया. आरोपी वहां से अलग अलग सामान लेकर फरार हुए.


मेरठ न्यूज़ डेस्क

Share this story