Samachar Nama
×

Mathura  जंक्शन पर बिलखती मिली मासूम बच्ची, भर्ती कराया, एक माह पूर्व भी मिली थी एक बच्ची
 

Mathura  जंक्शन पर बिलखती मिली मासूम बच्ची, भर्ती कराया, एक माह पूर्व भी मिली थी एक बच्ची

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क   मथुरा जंक्शन रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या सात पर आठ माह की मासूम को लावारिस हालत में छोड़ कर परिवार वाले चले गए. मासूम को बिलखता देख जीआरपी बाल कल्याण अधिकारी ने उसे रेलवे चाइल्ड लाइन को सौंपा है. चाइल्ड लाइन की टीम ने बच्ची को इलाज के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया है.

जंक्शन रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या सात के आगरा एंड की ओर बुधवार की सुबह आठ बजे छोटी बच्ची को बिलखता देख यात्रियों ने इसकी सूचना जीआरपी थाने की बाल कल्याण अधिकारी शिवकांती देवी को दी. वह तत्काल मौके पर पहुंचीं और वहां मौजूद लोगों से बच्ची के बारे में जानकारी की. यात्रियों ने बताया कि बच्ची काफी देर से यहां बिलख रही है. शिवकांती देवी ने बताया कि बच्ची की उम्र करीब आठ माह की है. उन्होंने चाइल्ड लाइन की टीम को मौके पर बुलाया. चाइल्ड लाइन की टीम ने बच्ची को अपने कब्जे में लिया और उसे जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया है. रेलवे चाइल्ड लाइन कोर्डिनेटर मो. सईद ने बताया कि जीआरपी की बाल कल्यांण अधिकारी ने आठ माह की बच्ची को हमारी टीम को सौंपा है. बच्ची को कोई प्लेटफार्म संख्या सात पर छोड़कर चला गया. जीआरपी थाने के निरीक्षक क्राइम जितेन्द्र सिंह ने बताया कि बच्ची को कौन छोड़ कर गया है, इसका पता किया जा रहा है. प्लेटफार्म संख्या सात पर लगे सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से बच्ची को छोड़कर जाने वाले की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं. बच्ची को तड़के कोई छोड़कर गया है.
जंक्शन रेलवे स्टेशन पर 5 अक्तूबर को भी एक चार वर्ष की बच्ची लावरिस हालत में मिली थी. इस बच्ची को भी कोई प्लेटफार्म पर छोड़ कर गया था. चाइल्ड लाइन की टीम ने बच्ची से उसके परिजनों के बारे में जानकारी जुटाने का काफी प्रयास किया गया, लेकिन वह अपने परिजनों के बारे में कोई जानकारी नहीं दे सकी. चाइल्ड लाइन कोर्डिनेटर मो. सईद ने बताया कि बच्ची को बालकल्यांण समिति के आदेश पर शिशु सदन में रखा गया है. बच्ची के परिजनों को अभी तक कुछ पता नहीं चल सका है.


मथुरा न्यूज़ डेस्क
 

Share this story