Samachar Nama
×

Madhubani वर्षगांठ पर होगा विरोध कार्यक्रम, लगाए आरोप
 

Madhubani वर्षगांठ पर होगा विरोध कार्यक्रम, लगाए आरोप


बिहार न्यूज़ डेस्क  पिछले साल दिल्ली में हुए किसान आंदोलन के वर्षगांठ पर राज्य स्तर पर आंदोलन होगा. इसी क्रम में जिले के सभी प्रखंड मुख्यालय परधरना व प्रदर्शन का आयोजन होगा. इसका निर्णय हो चुका है. जिसमें अधिकाधिक रुप से लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने की कोशिश करना है.
बिहार राज्य किसान सभा की बैठक को संबोधित करते हुए संगठन के राज्य संयुक्त सचिव मनोज कुमार यादव ने यह बात कही. बताया कि किसान खाद व पानी के लिए बेहाल हैं. इनकी फसल इनदोनों के समय पर नहीं मिलने से बर्बाद हो रहे हैं. आर्थिक क्षति के कारण किसान व मजदूरों की माली हालत दिनप्रतिदिन बदतर होती जा रही है. दुमंठा में जिला कार्यालय में  बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाध्यक्ष रामजी यादव ने कहा कि हर वर्ग केलोगों के बीच त्राहिमाम की हालत है. राज्य उपाध्यक्ष ललन चौधरी ने कहा कि केन्द्र की सरकार ने तीन कृषि काला कानून लाया था, इसके खिलाफ 13 माह दिल्ली सहित पूरे देश मे किसान आन्दोलन चला और सरकार ने झुठा वादा कर के आन्दोलन को तोड़वाया था.

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर एमएसपी कानून बनाकर उसे लागू करने, आन्दोलन के दौरान हुए गलत मुकदमा को वापस लेने, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को अमल में लाने, लक्खीपुर खीरी के आन्दोलनकारी किसान के हत्यारे केन्द्रीय मंत्री को बर्खास्त करने इत्यादि मांग को लेकर किसान आंदोलन के वर्षगांठ पर 26 नवम्बर को सभी राजधानी में किसान राजभवन मार्च करेंगे. जिसमें इस जिले की भी सहभागिता अधिकाधिक सुनिश्चित होनी चाहिए. बैठक के बाद एक शिष्टमंडल ने डीएम को खाद की कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए ज्ञापन सौंपा गया. वक्ताओं ने कहा कि राज्य बीज निगम के द्वारा जो सब्सिडी पर बीज दिया जाता था, आज वह भी नहीं मिल रहा है. मौके पर जिला मंत्री सत्य नारायण यादव, रामलखन यादव,सोनधारी यादव, सुमित्रा देवी, प्रेम कान्त दास, बाबूलाल महतो, विन्दु यादव, विद्यानन्द शास्त्रत्त्ी, ललित कुशवाहा, उपेन्द्र यादव, महेन्द्र यादव, कुन्दन कुमार, पवन भारती, श्याम साह, रेखा देवी व अन्य ने संबोधित किया.

मधुबनी  न्यूज़ डेस्क
 

Share this story