Samachar Nama
×

Madhubani केकर पैरा तकबै रे बेटा,तू कहां छोड़ि के चैल गेला, बिस्फी थाना क्षेत्र के मढ़िया के पास कार नहर में जा गिरी, मौत की खबर मिलते ही परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़
 

Madhubani केकर पैरा तकबै रे बेटा,तू कहां छोड़ि के चैल गेला, बिस्फी थाना क्षेत्र के मढ़िया के पास कार नहर में जा गिरी, मौत की खबर मिलते ही परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़


बिहार न्यूज़ डेस्क बिस्फी के लोगों के लिए मंगल की सुबह अमंगल लेकर आयी. कार हादसे में तीन लोगों की मौत की खबर से लोग सकते में आ गये. मृतक राजा कुमार और विकास कुमार के घर के पास लोगों की भारी भीड़ जुट गयी.
जो भी सुना वह दौड़े—दौड़े राजा के घर के पास पहुंच गया. राजा की मां पूनम देवी के करूण विलाप से आसपास के लोगों की आंखें भी नम हो रही थीं. वह रह—रह कर बेहोश हो रही थीं.परिजन उसे पानी का छींटा मार कर होश में लाने की कोशिश कर रहे थे. केकरा पैरा तकबै रे बेटा,तू कहां छोडि के चैल गेलै की करुण रूदन से कठोर हृदय भी द्रवित हो रहा था. लोग उसे ढंढ़स बंधाने में जुटे थे. माहौल पूरी तरह गमगीन था. लोगों के मुंह से एक शब्द भी नहीं निकल रहा था.सभी खामोश थे.

अंतिम क्षण तक मृत्यु से संघर्ष करता रहा राजा कुमार बिस्फी थाना को मिले अनुबंध पर बोलेरो गाड़ी का चालक था ड्राइवर राजा कुमार. परिजनों ने बताया कि वह ससुराल से लौट कर रात्रि गश्ती पर जाना चाहता था. लेकिन शायद यह ईश्वर को मंजूर नहीं था. बिस्फी थाना के एएसआई दिनेश दिवाकर ने बताया कि घटनास्थल के पास उसके हाथ में पहने दो कड़े मिले हैंऔर कार का शीशा भी टूटा मिला है जिससे यह पता चलता है कि राजा ने कार से निकलने के लिए कड़ा से कार में बंद शीशे को तोडने का प्रयास किया होगा. लेकिन फिर भी वह मौत को मात नहीं दे सका. राजा के पिता की बचपन में ही मौत हो गयी थी. मां ने किसी तरह पालपोस कर बड़ा किया. तीन भाईयों में सबसे बड़ा राजा ही परिवार का सारा खर्च चलाता था.
तीसरी बार ससुराल आने का सपना अधूरा ही रहा रूबी कुमारी अपनी पांच भाइयों और दो बहनों में चौथे नंबर पर थी. पिता रामचरण यादव ने उसकी शादी राजा कुमार से कर दी थी. रूबी शादी के बाद काफी खुश थी. दो बार अपनी ससुराल आयी थी. वह तीसरी बार ससुराल आना चाहती थी. लेकिन उसका यह सपना पूरा नहीं हुआ.
उसके चाचा बुद्धू यादव ने बताया कि रूबी अपने पति राजा और ससुराल के लोगों की काफी तारीफें करती थी. चाचा ने बताया कि उसे क्या पता कि उसकी भतीजी हम हम सबों को छोड़ कर हमेशा-हमेशा के लिए चली जायेगी.

मधुबनी  न्यूज़ डेस्क
 

Share this story