Samachar Nama
×

Lucknow  पहल लखनऊ में निजी औद्योगिक पार्क बनाने की तैयारी, इन समस्याओं का अभी तक नहीं हुआ समाधान
 

Lucknow  पहल लखनऊ में निजी औद्योगिक पार्क बनाने की तैयारी, इन समस्याओं का अभी तक नहीं हुआ समाधान


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  लखनऊ में उद्योग पहले से तय औद्योगिक क्षेत्रों तक ही सीमित नहीं रहेंगे. पीपीपी मॉडल पर निजी औद्योगिक पार्क भी विकसित होंगे.  कलेक्ट्रेट सभागार में हुई उद्योग बन्धु की बैठक में डीएम ने सरकार की एमएसएमई नीति 2022 के बारे में बताया. उद्यमियों को प्रेरित करने के साथ ही आश्वासन दिया कि प्रशासन की ओर से हर संभव सहयोग मिलेगा.

नई नीति में गांवों के बीच उपनगर बनाने की तैयारी है. साथ ही एक्सप्रेस वे के दोनों ओर पांच किलोमीटर तक ग्राम सभा की जमीनें एमएसएमई विभाग को इसके लिए दी जाएंगी. उद्योगों को स्टाम्प में छूट मिलेगी.
डीएम सूर्य पाल गंगवार ने निजी औद्योगिक क्षेत्रों, प्राइवेट औद्योगिक पार्क विकसित करने के लिए उद्यमियों को प्रेरित किया. डीएम ने कहा कि उद्देश्य यह है कि लखनऊ के प्रत्येक गांव में उद्योग लगे. इसके लिए प्रशासन अपने स्तर से प्रयास कर रहा है. डीएम ने बैठक में आए उद्योग विभाग के अधिकारियों से भी इसकी सम्भावनाओं पर चर्चा की. बैठक में आए उद्यमियों ने एमएसएमई नीति की प्रशंसा की. बैठक में निवेश मित्र पोर्टल पर ऑनलाइन दाखिल की गईं स्वीकृतियों, अनुमतियों के लम्बित आवेदनों पर चर्चा हुई. फिल्म बंधु ग्राउंड और रजिस्ट्रार फर्म सोसाइटी के प्रकरण भी लम्बित मिले.
● नादरगंज औद्योगिक क्षेत्र में नेशनल इंजीनियरिंग वर्क्स से अमौसी तक की सड़क खस्तहाल है. नगर निगम ने बताया कि इसके लिए 10 लाख से अधिक का खर्च है. सदन की कार्यकारिणी से अनुमोदन के बाद ही कार्य हो पाएगा.
● औद्योगिक क्षेत्र चिनहट, तालकटोरा, सरोजनीनगर और अमौसी में अतिक्रमण अब तक नहीं हटाया गया है. डीएम ने नगर निगम, लोक निर्माण विभाग, यूपीसीडा और पुलिस को आपसी समन्वय कर अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिया.
● सरोजनीनगर औद्योगिक क्षेत्र में पुलिस चौकी के लिए भी उद्यमियों ने मुद्दा उठाया. इस पर पुलिस की ओर से बताया गया कि यूपीसीडा की ओर से निर्मित पुलिस चौकी की साफ-सफाई कराई जाएगी. फिर पुलिस चौकी क्रियाशील हो जाएगी.
सरोजनीनगर में हटाया गया अतिक्रमण
सरोजनीनगर औद्योगिक क्षेत्र की इकाई ए-27 की बाउंड्री के बाहर अतिक्रमण को यूपीसीडा ने हटवा दिया है. इसके लिए उद्यमियों ने धन्यवाद दिया. प्रदीप एयर कैटर्स की ओर से अन्तरराष्ट्रीय फ्लाइट किचेन तक जाने वाले सम्पर्क मार्ग के क्षतिग्रस्त होने की समस्या बताई. डीएम ने अधिशासी अधकारी आवश्यक निर्देश दिया.


लखनऊ न्यूज़ डेस्क
 

Share this story