Samachar Nama
×

Lucknow  प्रो. पाठक का बयान नहीं मिलने से जांच अटकी, एकेटीयू कुलपति से कई जानकारी ली
 

Lucknow  प्रो. पाठक का बयान नहीं मिलने से जांच अटकी, एकेटीयू कुलपति से कई जानकारी ली

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क   कमीशन लेने का आरोप लगने के बाद मोबाइल बंद कर गायब छत्रपतिशाहूजी महाराज यूनिवर्सिटी के कुलपति विनय पाठक का बयान न मिलने से एसटीएफ की जांच आगे नहीं बढ़ पा रही है. एसटीएफ को कई साक्ष्यों पर कुलपति के बयान लेने हैं. कुलपति को दो ई-मेल व नोटिस भेजी जा चुकी है. बावजूद इसके वह आने से बच रहे हैं. वहीं एसटीएफ की एक टीम कानपुर आवास फिर पहुंची थी. यहां कर्मचारी ने उनके बारे में कोई जानकारी होने से मना कर दिया.
इंदिरा नगर थाने में 28 अक्टूबर को खुर्रमनगर निवासी डेविड मारियो ने आगरा की डॉ.भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी की प्री व पोस्ट परीक्षा का संचालन करने के लिये कमीशन लेने का आरोप विनय पाठक व अजय मिश्र पर लगाते हुये एफआईआर दर्ज करायी थी. एसटीएफ ने 29 अक्टूबर को अजय मिश्र को गिरफ्तार कर लिया था. बयानों और फिर अजय जैन की गिरफ्तारी से कुलपति विनय पाठक की मुसीबतें बढ़ गई थी. विनय पाठक व अजय मिश्र पर केस दर्ज हुआ था.
विनय पाठक पर कई आरोप लगाए गए

एसटीएफ ने इस मामले में छह विश्वविद्यालय में कई कर्मचारियों, प्रोफेसरों व यहां काम करने वाले संविदा कर्मचारियों से पूछताछ की. इस दौरान कुलपति विनय पाठक पर कई तरह के आरोप लगाये गये. इन आरोपों की सच्चाई जानने के लिये एसटीएफ ने उन्हें नोटिस भेजकर बयान दर्ज कराने को कहा. विनय पाठक ने ई-मेल भेज कर कहा कि वह अस्वस्थ हैं, लिहाजा 25 नवम्बर के बाद उपलब्ध होंगे. एसटीएफ उनके बारे में पता तो लगा रही है.
एसटीएफ के अफसरों ने कई बिन्दुओं पर एकेटीयू के वर्तमान कुलपति से कई बार बात की. इसी कड़ी में  भी एसटीएफ ने उनसे व तीन अन्य कर्मचारियों से कुछ नियुक्तियों और अन्य बिन्दुओं पर कई जानकारियां ली.


लखनऊ न्यूज़ डेस्क

Share this story