Samachar Nama
×

Lucknow  विरासत सहेजने के बहाने भाजपा का विपक्षी दलों पर तीखा हमला, भाजपा कार्य समिति की बैठक में सीएम योगी ने विरोधी दलों को आड़े हाथों लिया, कहा-विरासत से ही समृद्धि
 

Lucknow  विरासत सहेजने के बहाने भाजपा का विपक्षी दलों पर तीखा हमला, भाजपा कार्य समिति की बैठक में सीएम योगी ने विरोधी दलों को आड़े हाथों लिया, कहा-विरासत से ही समृद्धि


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा कार्यसमिति में पार्टी नेताओं के समक्ष डबल इंजन सरकार में नया आकार लेते यूपी की तस्वीर पेश की. वहीं कानून व्यवस्था और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता भी दोहराई. उन्होंने कहा कि विरासत का सम्मान करना भाजपा ही जानती है. विरोधी दलों की सरकारें यदि विरासत को सम्मान देतीं तो उन्हें दर-दर की ठोकरें नहीं खानी पड़तीं.

सीएम ने कहा कि यूपी में असीम संभावनाएं. यूपी के सामर्थ्य को सबको समझना होगा. यह देश का सांस्कृतिक हृदय स्थल है. पर्यटन के मामले में आज प्रदेश पहले नंबर पर है. काशी में एक सप्ताह में 26 लाख और सावन माह में एक करोड़ श्रद्धालु दर्शन करने पहुंचे. यही स्थिति अयोध्या और मथुरा-वृंदावन की भी है. प्रयागराज में माघ मेले में दो करोड़ से ज्यादा श्रद्धालु पहुंचे. योगी ने कहा कि अगर इस सामर्थ्य को पिछली सरकारों ने समझने और सम्मान देने का प्रयास किया होता तो यूं दर-दर ठोंकरें नहीं खानी पड़तीं. इस विरासत को जो भी सम्मान देगा, समृद्धि उसका द्वार खोलेगी.
55 वर्ष शासन करने वाले बच्चों से बेखबर
सीएम ने कहा कि 1998 से गोरखपुर में सांसद के रूप में सेवा का अवसर मिला. 1999 में गोरखपुर व आसपास दिमागी बुखार से मौत की बात सामने आई. पता चला कि 38 जनपदों में यह बीमारी फैली है. 55 वर्ष तक शासन करने वालों को यूपी के वह बच्चे नहीं दिखे, क्योंकि उनके एजेंडे में गरीब, किसान, मजदूर, युवा, जिनके मासूम दम तोड़ रहे थे, वह मां नहीं थी. उनके एजेंडे में जाति, मजहब था. इंसेफेलाइटिस से होने वाली 90 फीसदी मौतें अल्पसंख्यक व अनुसूचित समाज से होती थी. अटल जी की सरकार में 2004 में हमने वैक्सीन मंगाने का प्रयास किया.
सबको अपनी विरासत पर गर्व होना चाहिए
सीएम योगी ने कहा कि भगवान राम, कृष्ण ने यहीं जन्म लिया. बाबा विश्वनाथ धाम यहीं है. जो लोग इस सामर्थ्य को नहीं समझते थे, वे कांवड़ यात्रा पर रोक लगाते थे. विरासत पर गौरव होना चाहिए.
जाति-धर्म से ऊपर उठकर बनीं योजनाएं
सीएम ने कहा कि गरीब की कोई जाति-मजहब नहीं होता. गरीबों को उसका अधिकार मिलना चाहिए. किसान को जाति-मजहब पर नहीं बांट सकते. योजनाओं का लाभ हर तबके को बिना भेदभाव दिया गया.


लखनऊ न्यूज़ डेस्क

Share this story