Samachar Nama
×

Lucknow  अनुशासनहीनता में डॉक्टर बर्खास्त,ये भी हुए कार्यपरिषद में फैसले
 

Lucknow  अनुशासनहीनता में डॉक्टर बर्खास्त,ये भी हुए कार्यपरिषद में फैसले

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  केजीएमयू नेत्र रोग विभाग के एक डॉक्टर को अनुशासनहीनता में बर्खास्त कर दिया गया है. जांच कमेटी की सिफारिश के आधार पर कार्य परिषद ने डॉक्टर की बर्खास्ती पर अंतिम मुहर लगा दी है. इससे पहले पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग के डॉक्टर को बर्खास्त किया जा चुका है. केजीएमयू में कुलपति डॉ. बिपिन पुरी की अध्यक्षता में  कार्यपरिषद की बैठक हुई.

बैठक में नेत्र रोग विभाग के एक डॉक्टर का मामला रखा गया. 2022 को नेत्र रोग विभाग की अध्यक्ष डॉ. अपजीत कौर ने कुलपति को पत्र लिखा था. शिकायत में कहा गया कि आरोपी डॉक्टर ने बैठक में असंसदीय भाषा का इस्तेमाल किया. डॉक्टर को आरोप पत्र देकर निलंबित कर दिया गया. आरोपी डॉक्टर ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. कुछ ही समय बाद दोबारा निलंबित कर दिया. कमेटी ने भी जांच की थी. वहीं पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग के एक डॉक्टर को बर्खास्त किया जा चुका है.
केजीएमयू में तैनात एसआर और नॉन पीजी जूनियर रेजिडेंट को अब मातृत्व अवकाश का लाभ मिलेगा. सभी कार्मिकों की सालाना गोपनीय रिपोर्ट मानव संपदा पोर्टल पर अपलोड होगा
डॉ. विवेक गुप्ता ने केजीएमयू को अलविदा कहा
आर्गन ट्रांसप्लांट विभाग के डॉ. विवेक गुप्ता ने केजीएमयू को अलविदा कह दिया है. उनके जाने से आर्गन ट्रांसप्लांट योजना को तगड़ा झटका लगा है. अब अंग प्रत्यारोपण पर संकट गहरा गया है. आर्गन ट्रांसप्लांट विभाग के डॉ. मनमीत सिंह पहले ही इस्तीफा देकर निजी अस्पताल जा चुके हैं. अब डॉक्टर विवेक ने नौकरी छोड़ दी है.


लखनऊ न्यूज़ डेस्क
 

Share this story