Samachar Nama
×

Lucknow  सोसाइटी की लिफ्ट में सात मिनट तक बच्चा फंसा रहा, ग्रेटर नोएडा वेस्ट की एस एस्पायर सोसाइटी के डी 2 टावर की घटना
 

Lucknow  सोसाइटी की लिफ्ट में सात मिनट तक बच्चा फंसा रहा, ग्रेटर नोएडा वेस्ट की एस एस्पायर सोसाइटी के डी 2 टावर की घटना

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  नोएडा और ग्रेनो की सोसाइटी में लोगों के लिफ्ट में फंसने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. आए दिन लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.  भी ऐसा ही मामला देखने को मिला. ग्रेनो वेस्ट की एस एस्पायर सोसाइटी के डी 2 टावर में लिफ्ट अटकने का मामला सामने आया है. एक आठ साल का बच्चा ग्राउंड फ्लोर से आते समय लिफ्ट में सात मिनट तक फंसा रहा.

आरोप है कि घटना के समय कोई भी इमरजेंसी अलार्म और अन्य उपकरण काम नहीं आए. ऐसे में बीच फ्लोर से गुजर रहे एक व्यक्ति ने बच्चे की आवाज सुनी. इसके बाद गार्ड और अन्य लोगों को सूचना देने के बाद उसको निकाला गया.
निवासियों ने बताया कि सोसाइटी के डी -2 टावर की लिफ्ट में ग्राउंड फ्लोर से ऊपर की तरह आ रहा एक बच्चा लिफ्ट में तकनीकी खराबी आने के चलते बीच फ्लोर पर अटक गया. टावर की रेजीडेंशियल लिफ्ट टावर के दो फ्लोर पर के बीच में करीब सात मिनट तक फंसी रही. आरोप है कि रखरखाव न होने के चलते घटना हो रही है, लेकिन टीम ध्यान देने को तैयार नहीं है. लिफ्ट में लगे हुए इमरजेंसी अलार्म काम नहीं किए.
मेंटेनेंस टीम से भी शिकायत की है. इस मामले में मेंटेनेंस टीम के सदस्यों का कहना है कि कुछ तकनीकी खराबी आने से लिफ्ट रुकी थी, जिसके बच्चे को जल्द ही निकल लिया था.
कई बार अटकने की शिकायत
● ग्रेटर नोएडा के अल्फा-1 कर्मिशयल बेल्ट में एक टावर की लिफ्ट अटकने की वजह से काफी देर तक फंसे रहे थे कोचिंग में पढ़ाई करने वाले सात से अधिक छात्र.
● गुलशन बेलिना सोसाइटी की एक लिफ्ट में में करीब 6 बच्चे 40 मिनट तक लिफ्ट में फंसे रहे.
● पंचशील ग्रीन 2 सोसाइटी के एक टावर में लिफ्ट में ढाई साल के बच्चे सहित करीब 6 लोग 20 मिनट के लिए फंस गए थे. कई बार इमरजेंसी बटन दबाने के बाद भी 20 मिनट बाद मदद मिली सकी.
● इको विलेज -1 सोसाइटी में टावर ए-1 लिफ्ट में करीब 45 मिनट तक दो लोग व बच्चा फंसा रह गए थे. वही टावर ई-7 की लिफ्ट में भी देर रात एक व्यक्ति लिफ्ट में फंसा गए. निवासियों ने कड़ी मशक्कत के बाद लिफ्ट को बीच फ्लोर में खोलकर निकला गया.
● पंचशील हाइनिश सोसाइटी के डी टावर में एक व्यक्ति करीब 20 मिनट तक लिफ्ट में फंसा रहा.
● गौर सिटी-2 सोसाइटी के दसवें एवेन्यू में लिफ्ट बीच फ्लोर पर अटकने के बाद नीचे आ गिरी थी.
● प्रिस्टीन एवेन्यू सोसायटी में लिफ्ट में 45 मिनट तक लिफ्ट में गर्भवती महिला और उसका पति फंस गए. दोनों लोग पार्किंग बेसमेंट से ग्राउंड फ्लोर से बीच अटके रहे थे.
अध्यक्ष और बेटी का वीडियो वायरल
सेक्टर 74 की ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी की लिफ्ट में  रात को अध्यक्ष अपनी बेटी के साथ फंस गए. काफी समय बाद उन्हें बाहर निकाला जा सका.
सेक्टर-74 की ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में  रात को सोसाइटी के अध्यक्ष अपनी बेटी के साथ थर्ड फ्लोर से ग्राउंड फ्लोर पर जा रहे थे, लेकिन अचानक लिफ्ट सेंकेंड फ्लोर और फर्स्ट फ्लोर के बीच में ही रुक गई. इसके बाद लिफ्ट में फंसे हुए अध्यक्ष ने इसका वीडियो बनाया और पूरी घटना के बारे में बता दिया. वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इसमें साफ तौर पर दिख रहा है कि विवेक बेटी के साथ में लिफ्ट में फंसे हुए हैं. कड़ी मशक्कत के बाद उनको बाहर निकाला गया. बताया जा रहा है कि वह थर्ड फ्लोर से ग्राउंड फ्लोर के लिए आ रहे थे. उनके साथ में उनकी 8 वर्ष की बेटी भी थी जैसे ही लिफ्ट ऊपर से नीचे आ रही थी तभी वह दूसरे और ग्राउंड फ्लोर के बीच में रुक गई.
जिसके बाद उन्होंने इमरजेंसी बटन को दबाया लेकिन उसने कोई काम नही किया .जैसे तैसे करके करीब 15 मिनट की मशक्कत के बाद उन्हें बाहर निकाला गया. उन्होंने कहा कि ऐसी समस्याएं आए दिन होती रहती हैं.


लखनऊ न्यूज़ डेस्क
 

Share this story